International

किसने कहा धैर्य की रणनीति के युग का अन्त हो चुका है ?

अमेरिकी -उपराष्ट्रपति-माइक-पेंस

सोल। उत्तर कोरियाई मिसाइल परीक्षण विफल होने के एक दिन बाद अमेरिकी उपराष्ट्रपति माइक पेंस ने उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच विसैन्यीकृत सीमा क्षेत्र का दौरा किया और एक बार फिर कहा कि प्योंगयोंग के प्रति धैर्य की रणनीति के युग का अंत हो गया है। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली।





चार एशियाई देशों के दौरे के पहले पड़ाव पर पेंस ने यहां अमेरिकी मित्र देशों को दिखाने और प्रतिद्वंद्वी देशों को स्मरण कराने के उद्देश्य से यह बात दोहराई कि क्षेत्र में बढ़ रहे तनाव के बीच ट्रम्प प्रशासन पीठ दिखाने वाला नहीं है।

उल्लेखनीय है कि विसैन्यीकृत क्षेत्र में बड़े पैमाने पर बारूदी सुरंगें बिछी हुई हैं और पूरे कोरियाई प्रायद्वीप में फैली इस  चार किलोमीटर चौड़ी पट्टी के चारों ओर बाड़ लगा हुआ है। इस पट्टी के दोनों तरफ दोनों देशों की सेना के जवान एक दूसरे के आमने सामने तैनात रहते हैं।

समाचार एजेंसी रॉयटर के मुताबिक, पेंस ने कहा कि अमेरिका अपने मित्र देश दक्षिण कोरिया के साथ चट्टान की तरह खड़ा रहेगा और उन्होंने शक्ति के बल शांति स्थापना की भी इच्छा जाहिर की।

धमकी भरे उत्तर कोरियाई राग के बीच उप-राष्ट्रपति ने यहां संवाददाताओं से कहा, ‘उद्देश्यों की प्राप्ति और इस देश में स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए सभी विकल्प खुले हुए हैं।’

पेंस ने कहा कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने स्पष्ट कर दिया है कि वह विशिष्ट सैन्य रणनीति के बारे में बात नहीं करेंगे। उन्होंने कहा, ‘एक समय धैर्य की रणनीति का युग था, लेकिन वह काल अब खत्म हो चुका है।’

मालूम हो कि उत्तर कोरियाई मिसाइल का परीक्षण विफल होने के एक घंटे बाद पेंस दक्षिण कोरिया पहुंच चुके थे। लेकिन विसैन्यीकृत क्षेत्र का दौरा एक दिन बाद किया। उत्तर कोरियाई को जवाब देने के लिए अमेरिका, उसके मित्र देश और चीन मिलकर काम कर रहे हैं। ट्रम्प के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार ने रविवार को कहा था कि कार्रवाई के लिए अंतर्राष्ट्रीय सहमति बना रहे हैं।

Comments

Most Popular

To Top