International

सीरिया में कुर्द लड़ाकों को हथियार देगा अमेरिका

कुर्द लड़ाका

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति ने तथाकथित इस्लामिक स्टेट (IS) के आतंकियों से लड़ने के लिए कुर्द लड़ाकों को हथियारों की आपूर्ति करने की स्वीकृति दी है। हालांकि, अमेरिका के इस फैसले का तुर्की ने जोरदार विरोध किया है। लेकिन व्हाइट हाउस की एक महिला प्रवक्ता ने कहा कि कुर्द लड़ाके सीरियाई डेमोक्रेटिक बल (SDF) के पार्ट हैं और आईएस आतंकियों को उनके गढ़ रक्का से खदेड़ने के लिए उन्हें हथियारों से लैस करना होगा। उन्होंने आगे कहा कि अमेरिका तुर्की की चिंताओं से वाकिफ है।





उल्लेखनीय है कि तुर्की कुर्द विद्रोहियों को आतंकवादी मानता है और सीरिया में और इलाका हथियाने से उसे रोकना चाहता है। बाद में पेंटागन ने कहा कि अमेरिकी रक्षा मंत्री जिम मेटिस ने तुर्की के अपने समकक्ष फिक्री इसिक से फोन पर बातचीत की, लेकिन बातचीत की विस्तृत जानकारी नहीं दी। तुर्की ने भी इस संबंध में सार्वजनिक रूप से कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

विदित हो कि एसडीएफ में कुर्द और अरब लड़ाके शामिल हैं जिनका अमेरिकी विशेष बल और गठबंधन सेना हवाई हमले के जरिए समर्थन कर रहे हैं। अमेरिका पहले इस गुट को हल्के हथियार और सैन्य वाहन मुहैया कराता था। अभी एसडीएफ रक्का से 50 किलोमीटर की दूरी पर तबका शहर में आईएस के साथ भीषण लड़ाई लड़ रहा है, इसलिए उसे आधुनिक हथियारों की जरूरत है। उधर, तुर्की कुर्द लड़ाकों को कुर्द वर्कर्स पार्टी का विस्तार मानता है जिससे वह दशकों से लड़ रहा है। यह संगठन प्रतिबंधित भी है।

Comments

Most Popular

To Top