International

लड़ाई के बादल! द. कोरिया-अमेरिका का युद्धाभ्यास शुरू..

सोल। इधर उत्तर कोरिया ने गुआम में मिसाइलें दागने की धमकी दी और उधर दक्षिण कोरिया और अमेरिका ने नौसैनिक अभ्यास शुरू कर दिया। यह अभ्यास पांच दिन चलेगा। उत्तर कोरिया इस अभ्यास से बेहद खफा है और दो-तीन पहले उसने अमेरिका को गुआम पर मिसाइलों से हमला करने की धमकी दी थी। उत्तर कोरिया और अमेरिका के बीच कई हफ्तों से बयानबाजी चल रही है लेकिन अब मामला नाजुक होता प्रतीत हो रहा है। कई जानकार कहते हैं कि जो हालात हैं उससे लड़ाई के बादल गहराने का डर बन गया है।





दक्षिण कोरियाई नौसेना के मुताबिक इस अभ्यास में लड़ाकू विमान, हेलीकॉप्टर और 40 नौसैनिक जहाज हिस्सा ले रहे है। एयरक्राफ्ट कैरियर यूएसएस रोनाल्ड रीगन भी इस अभ्यास में शामिल हो रहा है।

हालांकि दक्षिण कोरिया और अमेरिकी सेना जब-तब युद्धाभ्यास करते रहते हैं लेकिन उत्तर कोरिया इसे उकसाने वाली कार्रवाई मानता है। उत्तर कोरिया ने चंद रोज पहले ही कहा था अमेरिका प्रायद्वीप में विमान वाहक पोत और अन्य सैन्य साजो सामान इकट्ठा कर युद्ध के लिए उकसाने वाली कार्रवाई कर रहा है।

अपने परमाणु कार्यक्रम के बारे में उत्तर कोरिया की दलील है कि आत्मरक्षा के लिए उसे परमाणु हथियार रखने का अधिकार है। संयुक्त राष्ट्र में उत्तर कोरिया के डिप्टी अंबेडसर किन इन रियोंग का तो यहां तक कहना है कि कोरियाई प्रायद्वीप में स्थिति ठीक नहीं है। सिर्फ एक परमाणु हमला क्षेत्र की शांति में खलल डाल सकता है। उन्होंने यह भी कहा कि अमेरिका ने उनकी सुप्रीम लीडरशिप को हटाने के लिए गुप्त योजना बनाई है। वह सवाल करते हैं कि क्या यह खतरनाक नहीं है।

 

 

Comments

Most Popular

To Top