International

अमेरिकी बमवर्षक विमानों ने दिखाई ताकत

अमेरिकी बमवर्षक विमानों ने दक्षिण कोरिया में शुक्रवार को युद्धक अभ्याेस किया।

स्योल। अमेरिकी बमवर्षक विमानों ने दक्षिण कोरिया में शुक्रवार को युद्धाभ्यास किया। दक्षिण कोरिया के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि प्योंगयांग के हालिया मिसाइल परीक्षण के बाद सेना के एक कार्यक्रम के दौरान अमेरिकी लड़ाकू विमान पूर्वी चीन सागर के बेहद करीब से गुजरे।





पूर्वी चीन सागर के ऊपर से  भरी उड़ान

पूर्वी चीन सागर सीमा (फाइल फोटो)

पूर्वी चीन सागर सीमा (फाइल फोटो)

योनहाप समाचार एजेंसी द्वारा जारी खबर के अनुसार इस अभ्याास के बाद अमेरिकी बी-1बी लैंसर्स विमानों ने जापानी फाइटर जेट्स के साथ तनावपूर्ण और भारी सैनिकों की तैनाती वाली सीमा के बहुत करीब पूर्वी चीन सागर के ऊपर से उड़ान भरी। दक्षिण कोरियाई सेना द्वारा जारी एक बयान में कहा गया, ‘इस अभ्याास का मकसद उत्तर कोरिया के बैलेस्टिक मिसाइल परीक्षणों पर कड़ी प्रतिक्रिया देना था।’ सेना के मुताबिक, अमेरिका और दक्षिण कोरिया के चार लड़ाकू विमानों ने इस अभ्यास में हिस्सा लिया। यह अभ्यास दक्षिण कोरिया की आंतरिक सीमा से करीब 80 किमी दूर योंगवाल काउंटी में किया गया था।

भारत के साथ भी होगा युद्धाभ्यास

एक अन्य संयुक्त युद्धाभ्यास में USS निमित्ज एयरक्राफ्ट कैरियर भारत और जापान के साथ बंगाल की खाड़ी में 11 दिन तक सयुंक्त युद्धाभ्यास करेंगे। बता दें कि अमेरिकी सेना उत्तर कोरिया के हाल ही में किए गए मिसाइल टेस्ट के बाद अधिक सक्रिय हो गईं है। उत्तर कोरिया ने मिसाइल टेस्ट के दौरान दावा किया था कि उसकी ये मिसाइल अमेरिकी महाद्वीप को नष्ट करने की क्षमता रखती है।

Comments

Most Popular

To Top