International

उत्तर कोरिया पर नया बैन, 30 फीसदी कम मिलेगा तेल

किम जोंग-उन, निक्की हेली

वाशिंगटन। संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने सर्वसम्मति से उस प्रस्ताव को हरी झंडी दे दी है, जिसके तहत उत्तर कोरिया पर अब तक के सबसे कड़े प्रतिबंध लगाए हैं। इन प्रतिबंधों से उत्तर कोरिया के बड़े निर्यातों को निशाना बनाने के साथ ही उसे तेल की आपूर्ति में 30 फीसदी की कटोती की जाएगी। उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंधों के मद्देनजर 90 फीसदी निर्यात पर पाबंदी लगेगी। इससे पहले सुरक्षा परिषद ने 5 अगस्त को भी उत्तर कोरिया पर प्रतिबंध लगाए थे। 5 अगस्त को लगाए गए प्रतिबंध में वहां से कोयला, लौह अयस्क और समुद्री प्रोडक्ट्स के निर्यात पर प्रतिबंध लगा दिया था।





नए प्रतिबंध को 15 सदस्यीय सुरक्षा परिषद ने सर्वसम्मति से मंजूरी दी है। यूएन में अमेरिका की राजदूत निक्की हेली ने कहा कि आज हम दुनिया को यह बता रहे हैं कि परमाणु हथियार से लैस उत्तर कोरिया ने अपना परमाणु कार्यक्रम बंद नहीं किया, तो हम उसे रोकने के लिए खुद कदम उठाएंगे। उन्होंने कहा कि हमने प्रयास किया कि उत्तर कोरियाई शासन सही कार्य करे। अब हम गलत काम करते रहने की क्षमता हासिल करने करने से उसे रोकने के लिए कदम उठा रहे हैं। हेली के मुताबिक इसके लिए अंतर्राष्ट्रीय समुदाय उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार कार्यक्रमों को ईंधन एवं धन मुहैया करवाने वाले साधनों को निशाना बना रहा है।

निक्की हेली ने कहा, उत्तर कोरिया के परमाणु हथियार बनाने और उसे बांटने में तेल की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा कि प्रस्ताव के तहत गैस, डीजल और भारी ईंधन तेल में 55 फीसदी तक कटौती करने से उत्तर कोरिया को मिलने वाले तेल मे 30 फीसदी तक की कमी हो जाएगी।

Comments

Most Popular

To Top