International

इन 10 देशों में ऐसी है महिला पुलिस की यूनिफार्म

महिला पुलिस

चुस्त-दुरुस्त यूनिफार्म व्यक्तित्व को रोबीला बना देता है… और अगर महिला जवान हो तो क्या कहने! यूनिफार्म खुद में एक अहसास है…पर्सनालिटी में चार चाँद लगा देती है। यूं तो दुनिया भर की पुलिस की अलग-अलग ड्रेस हैं लेकिन रक्षकन्यूजडॉटकाम आपको 10 देशों की ऐसी ही यूनिफार्म के अलावा उस देश के पुलिस सिस्टम से आज रू-ब-रू करा रहा है…





इजरायल

इजरायल

यह दुनिया के कुछेक ऐसे देशों में से है जहां महिलाओं के लिए सैन्य सेवा अनिवार्य है। 1948 में स्थापना के बाद और उससे पहले भी महिलाएं सेना का हिस्सा रही हैं। 1948 में इनकी संख्या सेना में 20 प्रतिशत थी। 2011 में महिला सैनिकों की संख्या 33 प्रतिशत और महिला अफसरों की तादाद 51 प्रतिशत थी। ये महिलाएं ग्राउंड, एयरफोर्स और नेवी के साथ-साथ सिविल पुलिस के रूप में विभिन्न भूमिकाएं निभा रही हैं। पुलिस फ़ोर्स में इनके जिम्मे आम जनता की सुरक्षा, क़ानून-व्यवस्था, अपराध नियंत्रण और ट्रैफिक व्यवस्था है, उसी तरह जैसा कि सामान्य तौर पर सभी देशों में होता है।

हालैंड

हालैंड

यह पिक्चर हालैंड की महिला पुलिस अधिकारी की है जो यूनिफार्म में नहीं है लेकिन ड्यूटी पर है। यहाँ प्रांत के हिसाब से पुलिस व्यवस्था है। लेकिन यह दो हिस्सों में बंटी है। एक राष्ट्रीय पुलिस है जो हर तरह के अपराधों की जांच, अपराधियों की धर-पकड़ करती है और केस दर्ज कर अदालत तक पहुंचाती है। दूसरी व्यवस्था के तहत पुलिस स्थानीय म्युनिसिपेलिटी के अधीन होती है। इनमें से कुछ अधिकारियों को ही किसी को हथकड़ी लगाकर गिरफ्तार करने की शक्ति प्राप्त होती है।

फिनलैंड

फिनलैंड

यहाँ की पुलिस आतंरिक सुरक्षा मंत्रालय के तहत नॅशनल पुलिस बोर्ड में शामिल है। यहाँ दो नेशनल पुलिस यूनिट और 11 लोकल पुलिस विभाग हैं। इनके बैच में दोधारी तलवार के हैंडल में शेर बना हुआ है।

चीन

चीन

चाइनीज पीपल्स आर्म्ड पुलिस फ़ोर्स (PAP) अर्द्धसैनिक पुलिस बल है जो सिविलियन पुलिसिंग का काम भी करती है। आग से बचाने का काम भी इसी के जिम्मे है। यह लड़ाई के दौरान ग्राउंड फ़ोर्स की तरह काम करती है। PAP के सर्विसमैन ‘Armed Police Soldiers’ कहलाते हैं। इनकी ड्रेस ऑलिव ग्रीन है। इनकी कुल संख्या 15 लाख है।

ग्रीस

ग्रीस

यहाँ की पुलिस हेलेनिक पुलिस (Hellenic Police) के नाम से जानी जाती है। यहाँ की पुलिस फ़ोर्स रोड ट्रैफिक से लेकर आतंकवाद तक को नियंत्रित करती है। इसके वर्तमान प्रमुख पुलिस लेफ्टीनेंट जनरल निकोस पापागियानोपोलस हैं। इस फ़ोर्स में पुलिस ऑफिसर्स, सिविलियन, बार्डर गार्ड्स और स्पेशल पुलिस गार्ड शामिल हैं।

इंडोनेशिया

इंडोनेशिया

यहाँ की पुलिस को ‘POLRI’ कहते हैं। यह पहले इंडोनेशिया नेशनल आर्म्ड फ़ोर्स (ABRI) के नाम से जानी जाती है। सेना से इसे औपचारिक रूप से 1999 में अलग कर दिया गया। लेकिन आती यह रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत ही है। 2011 में इस फ़ोर्स की संख्या 387470 थी लेकिन उसके बाद हर साल इसमें बढ़ोत्तरी होती गई। इसमें 12 हजार वाटर पुलिस जवान हैं और 40 हजार पीपल्स सिक्यूरिटी (KAMRA) ट्रेनी भी हैं।

उत्तर कोरिया

उत्तर कोरिया

यहाँ की आंतरिक सुरक्षा का जिम्मा पीपल्स सिक्यूरिटी मंत्रालय और स्टेट सिक्यूरिटी डिपार्टमेंट के पास है। यह सरकार के ही अंग हैं। यहाँ के नागरिकों की नियमित रूप से फिजिकल और इलेक्ट्रानिक सर्विलांस यानी निगरानी होती है।

जापान

जापान

यहाँ की नेशनल पुलिस एजेंसी (NPA) नेशनल पब्लिक सेफ्टी कमीशन के अंतर्गत आती है। अमेरिका की संघीय जांच एजेंसी की तरह NPA के पास अपनी कोई ऑपरेशनल यूनिट नहीं है। सामान्यतया इसका काम नीतियों पर अमल कराना होता है। राष्ट्रीय आपातकाल के समय यह प्रांतीय पुलिस फ़ोर्स की कमांड पर काम करती है। नेशनल पुलिस एजेंसी का कमिश्नर-जनरल जापान की पुलिस का सर्वोच्च अधिकारी होता है। उसके नीचे डिप्टी कमिश्नर-जनरल होता है। यहाँ अपराध रोकने की जिम्मेदारी कम्युनिटी सेफ्टी ब्यूरो की है।

रोमानिया

रोमानिया

देश की पुलिस फ़ोर्स को रोमानियन पुलिस कहा जाता है और यही क़ानून को लागू करवाने वाली मुख्य एजेंसी है। यह प्रशासन और आंतरिक मंत्रालय के अधीन काम करती है। इसका मुखिया सचिव स्तर का अधिकारी यानि जनरल इन्स्पेक्टर होता है। केन्द्रीय यूनिट के चार विंग हैं जबकि रोमानियाई पुलिस को 41 काउंटी इंस्पेक्टोरेट में बांटा गया है।

उक्रेन

उक्रेन

देश में सुधारात्मक कदमों के तहत यहाँ की नेशनल पुलिस सर्विस का गठन 3 जुलाई 2015 को राष्ट्रपति पेट्रो पोरोशेन्को ने किया था। पहले इसका नाम MILITSIYA था। 7 नवम्बर 2015 को जो MILITSIYA इसमें शामिल होने से रह गए थे, उन्हें भी राष्ट्रीय पुलिस में शामिल कर लिया गया। यह एजेंसी आंतरिक मंत्रालय द्वारा संचालित होती है।

Comments

Most Popular

To Top