International

यहां मिले द्वितीय विश्व युद्ध के 2 बम

द्वितीय विश्व युद्ध के दो बम डिफ्यूज करने के लिए दो शहर कराए गए खाली

बर्लिन। जर्मनी के फ्रैंकफर्ट शहर में दूसरे विश्व युद्ध के जिंदा बम को निष्क्रिय करने के लिए शहर के 70 हजार लोगों को निकाला गया। 500 किलो का यह बम रविवार को निष्क्रिय किया गया। वहीं, अमेरिका में मिले एक अन्य बम को आज निष्क्रिय किया जाएगा। सुरक्षा के चलते 21 हजार लोगों को शहर छोड़ने को कहा गया है 1,400 किलो वजन वाले इस बम को ब्रिटेन ने सन 1939 में शुरू हुए दूसरे विश्व युद्ध के दौरान गिराया था।





70 हजार लोगों ने छोड़ा शहर

फ्रैंकफर्ट अग्निशमन विभाग के मुताबिक पिछले मंगलवार को एक इमारत निर्माण के दौरान यह बम मिला था। यह बम इतना शक्तिशाली है कि आस-पास की गलियों और इमारतों को पूरी तरह से तबाह करने की ताकत रखता है। जिस स्थान पर बम मिला है उसके आस-पास करीब डेढ़ किलोमीटर के इलाके की घेरेबंदी कर दी गई और इलाके में रह रहे 70 हजार लोगों से घर छो़ड़ने के लिए कहा गया। फायर ब्रिगेड की टीम के बम निरोधक दस्ते ने 500 किलोग्राम के बम को सफलतापूर्वक निष्क्रिय कर दिया। इसके बाद ही लोगों को अपने-अपने घर लौटने की इजाजत दी गई।

फ्रैंकफर्ट में मिले एक अन्य बम को बम निरोधक दस्ते ने उसे निष्क्रिय करने से पहले लगभग 21 हजार लोगों को सुरक्षित स्थान पर जाने का निर्देश जारी किया था। इसे आज निष्क्रिय किया जाएगा। बताया जा रहा है कि पिछले वर्ष भी जर्मनी के ऑग्सबर्ग में क्रिसमस के समय चलाए गए बचाव अभियान के समय एक जिंदा ब्रिटिश बम मिला था तब भी करीब 54 हजार लोगों को सुरक्षित स्थान पर भेजा गया था।

गौरतलब है कि जर्मनी में हर साल लगभग दो हजार टन बम और अन्य युद्ध सामग्री मिलती है। माना जा रहा है कि हाल ही में मिले ये बम ब्रिटिश वायु सेना ने द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान गिराए थे।

Comments

Most Popular

To Top