International

ट्रम्प प्रशासन ने आतंकी हमलों के लिए पाकिस्तान को लताड़ा

डोनाल्ड ट्रम्प

वाशिंगटन। डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन ने आतंकी हमलों के लिए एक बार फिर पाकिस्तान को लताड़ लगाई है। अमेरिकी प्रशासन का कहना है कि भारत-पाकिस्तान सरहद पर आतंकी हमलों से दोनों देशों के बीच कड़वाहट पैदा हो रही है। अगर ये आतंकी हमले इस साल 2017 में भी जारी रहते हैं, तो दोनों देशों के बीच संबंध और ज्यादा खराब हो सकते हैं।





अमेरिकी प्रशासन की ओर से जारी रिपोर्ट में पाकिस्तान स्थित आतंकी गुटों में तहरीक-ए-तालिबान, जमाते अल अहरार, अल कायदा और लश्कर-ए-झांगवी आदि नामों की चर्चा की गई है और कहा गया है कि ये आतंकी गुट अफगानिस्तान में भी सक्रिय हो सकते हैं।

डोनाल्ड ट्रम्प

पठानकोट एयरबेस पर हमले के दौरान की फोटो

अमेरिकी कांग्रेस के उच्च सदन सीनेट की प्रवर समिति की बैठक में अमेरिकी खुफिया विभाग के निदेशक डेनियल कोट्स ने विश्वव्यापी तनाव पर उपजी स्थितियों पर पेश एक रिपोर्ट में कहा है कि पाकिस्तान अपने जेहादी गुटों पर नियंत्रण करने में विफल रहा है। इस संदर्भ में रिपोर्ट में पिछले साल 2016 में पठानकोट एयरफोर्स बेस पर हुए आतंकी हमले का भी जिक्र किया गया है और कहा गया है कि पाकिस्तान सरकार जांच में सहयोग करने में पूरी तरह विफल रही है।

आतंकियों ने भारी अस्त्र-शस्त्रों के साथ वायुसेना स्टेशन में घुसकर हमला किया था। इस हमले में भारत के सात सुरक्षाकर्मी मारे गए थे, जबकि चार आतंकी भी ढेर हुए थे। इस घटना के बाद पाकिस्तान अंतर्राष्ट्रीय समुदाय में अलग-थलग पड़ गया था।

डेनियल कोट्स ने यह भी कहा है कि साल 2016 में भारतीय सीमा पर हुए दो बड़े हमलों से भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध बिगड़े हैं। ऐसी स्थिति में दो देशों के बीच उच्चस्तरीय किसी वार्ता से पहले आतंकवाद को रोकने की भारतीय शर्त अनुचित नहीं है। उन्होंने आगे कहा कि चीन और पाकिस्तान आर्थिक गलियारा बनने के बाद आतंकियों को अतिरिक्त लक्ष्य मिलने की संभावना भी प्रबल हो जाएगी।

Comments

Most Popular

To Top