International

लंदन हमला पूरी तरह खालिद मसूद का ही फितूर था

लंदन हमला

लंदन। ब्रिटिश संसद पर हमले की नाकाम कोशिश में चार लोगों की जान लेकर मारे गए खालिद मसूद के किसी अंतर्राष्ट्रीय आतंकी संगठन से सीधे ताल्लुक होने के सबूत नहीं मिले हैं। वहीं खालिद की मां और पत्नी इस पूरे घटनाक्रम को लेकर सदमे में हैं और उन्होंने खालिद के हाथों मासूम लोगों की जान जाने पर अफसोस जाहिर किया।





ब्रिटिश जांचकर्ताओं ने बुधवार को हुए हमले के इस पूरे घटनाक्रम की जांच के दौरान पाया कि ये सब कुछ खालिद की दिमागी उपज थी और किसी ने उसको मदद भी नहीं की थी। एकबारगी दुनिया को झकझोर देने वाले कांड को अंजाम देने में खालिद को महज 82 सेकंड लगे।

जांचकर्ताओं के मुताबिक़ खालिद पूरी तरह से इस्लामिक स्टेट विचारधारा और तौर-तरीकों को अपना रहा था। हालांकि, उसने हमले की साजिश के बारे में न तो किसी से बातचीत की और न ही ऐसे सबूत मिले हैं जो किसी और के शामिल होने की तरफ इशारा करते हों।

लंदन हमला

ब्रिटिश संसद पर हमले के दौरान हुआ एक शख्स

दूसरी तरफ, खालिद की पत्नी रोडे हैडरा ने हमले के पीड़ितों के प्रति अपनी संवेदनाएं और अफसोस प्रकट करते हुए बयान जारी किया है। उसने कहा है, ‘खालिद के किए पर मैं सन्न हूँ और दुःख में हूँ। मैं इस हरकत की पूरी तरह निंदा करती हूँ। मुझे पीड़ित परिवारों से हमदर्दी है और कामना करती हूँ कि घायल लोग जल्द ठीक हों।’ वहीं रोडे ने अपने और परिवार के लिए इसे संकट का समय बताते हुए प्रार्थना की है कि हमारे परिवार और खासतौर पर बच्चों के निजी जीवन को न घसीटा जाए।

रोडे से पहले खालिद की मां जैनेट अजओ ने भी बयान दिया था कि मैंने पीड़ितों के लिए आंसू बहाए हैं। उन्होंने इसे खौफनाक घटना करार दिया।

गौरतलब है कि 22 मार्च को तेज रफ़्तार कार से कई लोगों को टक्कर मारने के बाद खालिद संसद की तरफ बढ़ा था और रोके जाने पर उसने पुलिसकर्मी कीथ पाल्मर पर भी चाकू से हमला किया था। कीथ के अलावा इसमें तीन और लोगों की जान गई थी। कई लोग गंभीर रूप से घायल हुए थे।

Comments

Most Popular

To Top