International

स्पेशल रिपोर्ट: अमेरिका, रूस ने सैनिक कार्रवाई से बचने को कहा

F- 21 लड़ाकू विमान
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पुलवामा हमले के बाद  गुस्साए भारत द्वारा 26 फरवरी को पाकिस्तान के भीतर आतंकवादी ठिकानों पर किये गए दूसरे सर्जिकल स्ट्राइक के बाद अमेरिका , रूस  सहित कई देशों ने भारत का साथ दिया है औऱ भारत पाकिस्तान दोनों पक्षों से कहा है कि संयम बरते। अमेरिका ने पाकिस्तान से साफ शब्दों में कहा कि बालाकोट पर भारत द्वारा किये गए हवाई हमले के जवाब में किसी जवाबी सैन्य कार्रवाई से बचे और अपनी धरती से संचालित आतंकवादी गुटों के खिलाफ कार्रवाई करे।





दूसरी ओर रूस ने भारत और पाकिस्तान दोनों से संयम बरतने को कहा है। रूसी राष्ट्रपति ब्लादीमिर पुतिन के प्रेस सचिव दिमित्री पेस्कोव ने अपने बयान में कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच चल रहे ताजा घटनाक्रम पर रूस नजर रखे हुए है।

भारत द्वारा किये गए सर्जिकल स्ट्राइक के बाद  अमेरिकी विदेशी मंत्री माइक पोम्पियो ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से फोन पर बात की और भारत द्वारा  पाकिस्तान के भीतर बालाकोट पर  की गई कार्रवाई को  प्रतिआतंकवादी कार्रवाई की संज्ञा दी।

इस दौरान उन्होंने भारत के साथ निकट के सुरक्षा रिश्तों पर जोर दिया औऱ कहा कि क्षेत्र में शांति व स्थिरता बनाए रखने में दोनों देशों के साझा हित हैं। गौरतलब है कि अमेरिकी विदेश मंत्री राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के साथ इन दिनों हेनोई में हैं जहां वह अमेरिका और उत्तर कोरिया के राष्ट्रपतियों के बीच दूसरे दौर की बातचीत के लिये जमीन तैयार करने में जुटे हैं।

माइक पोम्पियो ने कहा कि उन्होंने दोनों देशों के विदेश मंत्रियों से   बात की और कहा कि किसी भी कीमत पर हालात को भड़कने नहीं दिया जाए। पोम्पियो ने दोनों विदेश मंत्रियों से यह भी कहा कि आपसी संवाद को प्राथमिकता दें और किसी नई सैनिक कार्रवाई से बचे।

रूसी राष्ट्रपति के प्रवक्ता ने कहा कि  हम दोनों देशों के बीच विकसित होते हालात को लेकर काफी चिंतित हैं। हम  इन हालात पर नजदीक से नजर रखे हुए हैं औऱ सभी पक्षों से आग्रह करते हैं कि संयम दिखाएं।

Comments

Most Popular

To Top