International

स्पेशल रिपोर्ट: अमेरिका में 22 सितंबर को ट्रंप भी सुनेंगे प्रधानमंत्री मोदी को

प्रधानमंत्री मोदी
फाइल फोटो

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 21 सितम्बर को अमेरिका के ऐतिहासिक दौरे पर रवाना होंगे जहां भारत अमेरिका  के रिश्तों के इतिहास में पहली बार अमेरिकी राष्ट्रपति भारतीय प्रधानमंत्री द्वारा सम्बोधित सभा में मौजूद रहेंगे। प्रधानमंत्री 27 सितम्बर तक अमेरिका दौरे पर रहेंगे जहां वह ह्यूस्टन के अलावा संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय न्यूयार्क का भी दौरा करेंगे।





विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सात दिनों के अमेरिका दौरे के कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए कहा कि वह न्यूयार्क में कई बहुपक्षीय शिखर बैठकों को भी सम्बोधित करेंगे।

अमेरिकी शहर ह्यूस्टन में आयोजित यह सभा भारतीय समयानुसार 22 सितम्बर की रात साढ़े आठ से  करीब तीन घंटे तक चलेगी। इस सभा में प्रधानमंत्री के सम्बोधन को सुनने के लिये न केवल अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प मौजूद होंगे बल्कि उनके कुछ प्रमुख सहयोगी और अमेरिकी कांग्रेस के कुछ प्रमुख सदस्य भी होंगे। इस सभा के लिये 50, 000 से अधिक लोगों ने अपना पंजीकरण करवाया है।

माना जा रहा है कि इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी न केवल भारत अमेरिका रिश्तों की अहमियत की चर्चा करेंगे बल्कि पाकिस्तान का नाम लिये बिना आतंकवाद की समस्या से विश्व समुदाय को अवगत कराएंगे। प्रधानमंत्री मोदी का दूसरे कार्यकाल में पहला अमेरिका दौरा होगा।

वह संयुक्त राष्ट्र महासभा को सम्बोधित करने न्यूयार्क पहुंचेंगे जहां वह अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प के साथ दिवपक्षीय बैठक भी करेंगे। इसके अलावा वह कई विश्व नेताओं से मिलेंगे और कई बहुपक्षीय बैठकों को भी सम्बोधित करेंगे।

न्यूयार्क में वह बिजनेस नेताओं के साथ अलग से एक परस्पर चर्चा बैठक में भाग लेंगे और इसके अलावा एक ऊर्जा गोष्ठी को भी सम्बोधित करेंगे जिसमें अमेरिकी पेट्रोलियम क्षेत्र के कई अग्रणी कम्पनी प्रतिनिधियों को सम्बोधित करेंगे।

न्यूयार्क दौरे में प्रधानमंत्री मोदी एक सोलर पार्क का भी उद्घाटन करेंगे जो भारत के तीस लाख डालर के योगदान से बना है। इस पार्क से संयुक्त राष्ट्र महासभा को ऊर्जा मिलेगी। न्यूयार्क में वह गांधी शांति बाग का भी उद्घाटन करेंगे और महात्मा गांधी पर जारी एक डाक टिकट का भी उद्घाटन करेंगे।

न्यूयार्क में प्रधानमंत्री मोदी प्रशांत महासागर के 12 द्वीप देशों की एक बैठक को भी सम्बोधित करेंगे। वह कैरीबियाई देशों के नेताओं के साथ भी एक बैठक करेंगे। वह निर्गुट सम्मेलन और ब्रिक्स देशों के नेताओं की बैठक में भी भाग लेंगे।

Comments

Most Popular

To Top