International

स्पेशल रिपोर्ट: भारत में चीनी पढ़ाने के लिये ताइवान ने भेजे शिक्षक

भारत-ताइवान

नई दिल्ली। ताइवान में भारतीय छात्रों की बढ़ती संख्या के साथ ही ताइवान भारत में भी शिक्षा क्षेत्र में अपनी पैठ बनाने की कोशिश कर रहा है। इस इऱादे से ताइवान ने पंजाब स्थित चितकारा विश्वविद्यालय में अपना पहला ताइवान एजुकेशन सेंटर खोला। इसके साथ ही ताइवान के शिक्षा मंत्रालय ने चितकारा सहित देश के 18  विश्वविद्यालयों में चीनी भाषा पढ़ाने के लिये शिक्षक भेजे हैं।  ताइवान एजुकेशन सेंटर भारत औऱ ताइवान के बीच कड़ी का काम करेगा।





ताइवान में विश्व स्तर के शिक्षण संस्थानों के होने का दावा करते हुए यहां ताइवानी अधिकारियों ने बताया कि वहां पिछले साल भारतीय छात्रों की संख्या 2,398 तक पहुंच गई थी। ताइवान भारतीय छात्रों के लिये शीर्ष पसंद का देश बनता जा रहा है। ताइवान शिक्षा मंत्रालय ताइवान में भारतीय छात्रों की संख्या बढ़ाने के लिये भारतीय छात्रों को आकर्षित करने की कोशिश कर रहा है।

चितकारा विश्वविद्यालय में ताइवान एजुकेशन सेंटर खोलने के मौके पर ताइवान के  उप प्रतिनिधि छीह हाओ जैक चेन औऱ सहायक प्रतिनिधि पीटर्स चेन मौजूद थे। इस मौके पर ताइवनी अधिकारियों ने ताइवान में शिक्षा प्रणाली की जानकारी दी। ताइवान एजुकेशन सेंटर के उद्घाटन के मौके पर चितकारा विश्वविद्यालय के  चांसलर औऱ  वाइस चांसलर ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि  इन प्रयासों से छात्रों का आदान प्रदान बढ़ेगा। चितकारा विश्वविद्यालय में चीनी भाषा की पढ़ाई भी होगी। इसके लिये प्रति सप्ताह 12 घंटे का चीनी भाषा का पाठ्यक्रम तय किया गया है।  चितकारा विश्वविद्यालय  के जरिये ताइवान को एक बेहतर शिक्षा विकल्प के जरिये पेश किया जा सकेगा।

Comments

Most Popular

To Top