International

स्पेशल रिपोर्ट: रूस अब पाकिस्तान के सैनिकों को ट्रेनिंग देगा

Russian-Pak-Soldier
रूस और पाकिस्तान के सैनिक (सौजन्य- गूगल)

नई दिल्ली। पाकिस्तान और रूस के बीच रक्षा व सामरिक रिश्ते निरंतर गहरे होते जा रहे हैं। पिछले कुछ वर्षों से दोनों देशों के बीच रक्षा और सैन्य आदान-प्रदान और साझा अभ्यासों का सिलसिला शुरु हुआ था और अब दोनों देशों ने एक सैन्य ट्रेनिंग समझौते से आपसी रिश्तों को सामरिक रंग देने का ताजा कदम उठाया है ।





दोनों देशों की नौसेनाओं ने पिछले सप्ताह ही समुद्री सहयोग का एक समझौता किया था और अब ताजा समझौता रूस में पाकिस्तानी सैनिकों को ट्रेनिंग देने से सम्बन्धित है। यहां मिली रिपोर्टों के मुताबिक पाकिस्तान के सैनिकों को रूस के सैन्य ट्रेनिंग सस्थानों में ट्रेनिंग दी जाएगी। माना जा रहा है कि इस फैसले से रूस औऱ पाकिस्तान के बीच रक्षा सम्बन्धों को भारी बढ़ावा मिलेगा।

दोनों देशों ने आपसी सैन्य रिश्तों को गहरा करने के लिये एक साझा सैन्य सलाहकार समिति (जेएमसीसी) का गठन किया है जिसकी पहली बैठक इस्लामाबाद में हुई। इसी दौरान दोनों देशों ने सैन्य ट्रेनिंग का समझौता किया है। पाकिस्तानी रक्षा मंत्रालय के एक बयान के मुताबिक दोनों देशों ने रूसी महासंघ के सैन्य ट्रेनिंग संस्थानों में पाकिस्तान के सेवारत सैनिकों को दाखिला दिया जाएगा।

पाकिस्तान के साथ सैन्य सहयोग को गहरा करने के लिये सलाहकार समिति की बैठक के लिए रूसी रक्षा मंत्रालय में उपरक्षा मंत्री कर्नल जनरल अलेक्जेंडर वी फोमिन एक उच्च स्तरीय शिष्टमंडल के साथ इस्लामाबाद गए थे। रूस पाकिस्तान सलाहकार समिति की यह पहली बैठक छह औऱ सात अगस्त को सम्पन्न हुई। पाकिस्तान की ओर से इस बैठक की सहअध्यक्षता रक्षा मंत्रालय के रक्षा सचिव लेफ्टिनेंट जनरल (रि.) जमीर उल शाह ने की। इस बैठक के दौरान दोनों पक्षों ने आपसी रक्षा रिश्तों के मौजूदा हाल पर चर्चा की और इसे और मजबूत करने के नये उपायों पर बातचीत की।

रूसी उपरक्षा मंत्री जनरल फोमिन ने बाद में पाकिस्तानी थलसेना प्रमुख जनरल कमर जावेद बाजवा से मुलाकात की। यहां सामरिक पर्यवेक्षकों के मुताबिक अमेरिका के साथ पाकिस्तान के रिश्तों में बढ़ते तनाव की वजह से पाकिस्तान रूस की ओर देख रहा है। रूस ने कुछ साल पहले पाकिस्तान को चार एमआई-35 लड़ाकू हेलीकाप्टरों की सप्लाई की थी। दोनों ने फ्रेंडशिप नाम से साझा सैन्य अभ्यास भी किये हैं।

Comments

Most Popular

To Top