International

स्पेशल रिपोर्ट: पाक वायुसेना को मिलेंगे आएसा रेडार वाले चीनी विमान

चीनी रेडार
फाइल फोटो

नई दिल्ली। एक तरफ भारतीय वायुसेना नये लड़ाकू विमानों के लिये तरस रही है पाकिस्तान की वायुसेना अपनी हमलावर क्षमता में तेजी से बढ़ोतरी करती जा रही है। पाकिस्तानी वायुसेना को जेएफ-17 ब्लाक-2 किस्म के 12 लड़ाकू विमानों की अंतिम खेप जून के अंत तक मिलेगी। ये विमान दुनिया के अत्याधुनिक माने जाने वाले आएसा रेडार से लैस होंगे। इन रेडारों की वजह से दुश्मन के सैंकड़ों लक्ष्यों को एक साथ देखने और उन पर हमला करने की अद्भुत क्षमता होगी। ये आएसा रेडार चीन में विकसित किये गए हैं।





गौरतलब है कि भारतीय लड़ाकू विमानों में भी आएसा रेडार तैनात करने की योजना है । ये रेडार फ्रांस से आयात होने वाले राफेल विमानों में तैनात होंगे लेकिन इनके लिये  कई महीनों का और इंतजार करना होगा। जेएफ-17 ब्लाक-2 किस्म के विमान स्टेल्थ लड़ाकू विमान माने जाते हैं। भारतीय वायुसेना के पास इस तरह के स्टेल्थ लडाकू विमान अभी तक नहीं आए हैं। जेएफ-17 विमान चीन और पाकिसतान की संयुक्त परियोजना के तहत पाकिस्तान के कामरा विमान कारखाने में बनाए जा रहे हैं। इस तरह पाकिस्तान अत्याधुनिक लड़ाकू विमानों के मामले में आत्मनिर्भर होगा।

जहां भारत के लड़ाकू विमानों के स्क्वाड्रनों की संख्या घटती जा रही है वहीं पाकिस्तान तेजी से अपनी हमलावर क्षमता में बढ़ोतरी करता जा रहा है। पाकिस्तानी वायुसेना ने 12 अतिरिक्त जेएफ-17 ब्लाक-2 विमानों के आर्डर 2017 में दिये थे। पाकिस्तानी वायुसेना के लिये कामरा कारखाने ने 2009 के बाद से अब तक सौ से अधिक जेएफ-17 लड़ाकू विमान बना कर सौंपे हैं।
यहां मिली जानकारी के मुताबिक पाकिस्तानी वायुसेना को मिलने वाले नए जेएफ-17 विमानों में नवीनतम इलेक्ट्रानिक युद्ध प्रणाली लगी होगी। इनमें आएसा रेडारों के लगे होने से इन विमानों को आसमानी लड़ाई में असाधारण बढ़त मिलेगी। इन विमानों में हेलमेट माउंटेड डिस्प्ले, फ्लाई बाई वायर डिजिटल फ्लाईट कंट्रोल सिस्टम  भी लगे होंगे।

Comments

Most Popular

To Top