International

स्पेशल रिपोर्ट: महाबालीपुरम में राष्ट्रपति शी चिनफिंग के गाइड बनेंगे मोदी

प्रधानमंत्री मोदी और जिनपिंग
फाइल फोटो

नई दिल्ली। कई मसलों पर गम्भीर मतभेदों और तनातनी के बीच चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग शुक्रवार  दोपहर 2:10 पर चेन्नई के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डें पर उतरेंगे जहां से वह 04 बजे भारत के प्राचीन शहर महाबालीपुरम के लिये रवाना होंगे। वह प्रधानमंत्री मोदी के साथ दूसरी अनौपचारिक शिखऱ बैठक के लिये भारत दौरे पर आ रहे हैं। पिछली अनौपचारिक शिखर बैठक अप्रैल, 2018 में हुई थी।





चीनी राष्ट्रपति के भारत आने के पहले ही चीन औऱ पाकिस्तान के जम्मू-कश्मीर को लेकर जारी साझा बयान से शिखर बैठक का माहौल ठंडा हो गया है। लेकिन प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति शी की अगवानी में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। वह खुद गाइड के तौर पर राष्ट्रपति शी को महाबालीपुरम के मंदिरों के दर्शन कराएंगे।

महाबालीपुरम के तीन प्राचीन मंदिरों के दौरे में खुद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी उनके साथ रहेंगे और इन मंदिरों के महत्व के बारे में राष्ट्रपति शी को जानकारी देंगे। मम्मलापुरम नाम से  कहे जाने वाले महाबालपुरम मंदिर परिसर में तीन प्राचीन मंदिर हैं जिनमें से अर्जुन मंदिर, पंच रथ, औऱ तटमंदिर शामिल हैं। गौरतलब है कि 7वीं सदी में विकसित इस मंदिर परिसर का दौरा चीनी यात्री ह्वेनसांग ने किया था। तब पल्लव राजवंश से चीनी यात्रियों के सम्पर्क बने थे। चीनी राष्ट्रपति के लिये यह मंदिर उनके नजरिये से दर्शनीय होगा इसलिये इसकी प्राचीन अहमियत को देखते हुए राष्ट्रपति शी के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की शिखर बैठक का स्थल महाबालीपुरम चुना गया।

गौरतलब है कि पिछले साल 27 व 28 अप्रैल को जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब पहले अनौपचारिक शिखर बैठक के लिये चीन जाने का कार्यक्रम बना रहे थे तब भी चीनी राष्ट्रपति ने ऐतिहासिक महत्व के ऊहान शरह में आमंत्रित किया था।

चीनी राष्ट्रपति को प्रधानमंत्री मोदी मंदिरों के दर्शन करवाने के बाद वहीं समुद्र तट पर तटमंदिर पर रात्रिभोज आय़ोजित करेंगे  और इसके बाद राष्ट्रपति शी चेन्नई लौट आएंगे।

शनिवार को राष्ट्रपति शी और प्रधानमंत्री मोदी के बीच सुबह दस बजे से ही आपसी गुफ्तगू का सिलसिला शुरू हो जाएगा। यह बैठक ताज फिशऱमैन कोव रिजोर्ट में होगी। दस बजकर 50 मिनट पर दोनों देशों के नेताओं की अगुवाई में ताज फिशऱमैन कोव में ही टैंगो हाल में शिष्टमंडल स्तर की बातचीत  होगी। इसके बाद पौने बारह बजे प्रधानमंत्री मोदी राष्ट्रपति शी के सम्मान में लंच आयोजित करेंगे। दोपहर के भोजन के बाद राष्ट्रपति शी चेन्नई अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिये रवाना हों जाएंगे।

Comments

Most Popular

To Top