International

Special Report: कुलभूषण जाधव को भयमुक्त माहौल में ही मिलने दें- भारत

कुलभूषण जाधव

नई दिल्ली। पाकिस्तान की जेल में मौत की सजा पाए भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को काउंसेलर सम्पर्क सशर्त देने के पाकिस्तान के प्रस्ताव का भारत ने कड़ा विरोध किया है।





भारत ने पाकिस्तान से कहा है कि कुलभूषण जाधव को भयमुक्त माहौल मे भारतीय राजनयिकों से मिलने दिया जाए। यहां विदेश मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय न्यायिक अदालत के फैसले के मद्देनजर पाकिस्तान कुलभूषण जाधव से राजनयिक सम्पर्क की सुविधा प्रदान करे।

यहां राजनयिक सूत्रों ने बताया कि पाकिस्तान ने भारत से कहा है कि भारतीय राजनयिकों को कुलभूषण जाधव से अकेले में नहीं मिलने दिया जाएगा। मुलाकात के दौरान पाकिस्तानी अधिकारी मौजूद रहेगे औऱ यह मुलाकात कैमरे की निगरानी में ही होगी।

भारत ने इसे स्वीकार करने से मना कर दिया है। वियना संधि के अनुरूप पाकिस्तान को राजनयिक सम्पर्क की सुविधा देनी होगी । संधि के प्रावधानों के मुताबिक भारतीय नागरिक को पूरी तरह किसी डर से मुक्त माहौल में ही मिलने देना होगा।

गौरतलब है कि पाकिस्तान की जेल में मौत की सजा भुगत रहे भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को राजनयिक सम्पर्क देने के अंतरराष्ट्रीय अदालत के फैसले को स्वीकार करते हुए पाकिस्तान ने इस बारे में बात करने के लिये भारत सरकार को सूचित किया था। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा था कि अंतरराष्ट्रीय न्यायिक अदालत(आईसीजे) के फैसले के मद्देनजर हम पाकिस्तानी प्रस्ताव का आकलन कर रहे हैं।

गौरतलब है कि गत 17 जुलाई को अंतरराष्ट्रीय न्यायिक अदालत ने फैसला दिया था कि पाकिस्तान कुलभूषण जाधव को काउंसेलर सम्पर्क करने की अनुमति दे। अदालत ने कहा था कि पाकिस्तान ने 1963 की वियना संधि का उल्लंघन किया है और वह जाधव की मौत की सजा पर फिर विचार करे। 49 साल के कुलभूषण जाधव को मार्च, 2016 में ईरान से अगवा कर बलुचिस्तान ले जाया गया था जहां से उसे जासूसी के आरोप में गिरफ्तार दिखाया गया।

अदालत के फैसले के बाद पाकिस्तान ने कहा था कि जाधव को काउंसेलर सम्पर्क देने के लिये प्रक्रिया तय की जा रही है। भारत ने अंतरराष्ट्रीय अदालत से अप्रैल, 2017 में राजनयिक सम्पर्क दिलवाने की अपील की थी। इसके पहले इस्लामाबाद में कई बार भारतीय उच्चायोग ने पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय से आग्रह किया था कि कुलभूषण जाधव को भारतीय राजनयिकों से मिलने दिया जाए। पाकिस्तान ने बाद में जाधव की मां औऱ पत्नी को इस्लामाबाद में कैमरे की निगरानी में मिलने का संक्षिप्त मौका दिया था।

Comments

Most Popular

To Top