International

स्पेशल रिपोर्ट: मोदी की जापान में भव्य अगवानी की तैयारी

जापान पीएम शिंजो आबे एवं पीएम मोदी
फाइल फोटो

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के 28 और 29 अक्टूबर के जापान दौरे में जापानी प्रधानमंत्री शिंजो एबे उनके भव्य स्वागत की तैयारी कर रहै हैं। प्रधानमंत्री मोदी के जापान दौरे का कार्यक्रम खुद जापानी प्रधानमंत्री ने तैयार किया है औऱ इस दौरान उनके साथ अधिकतम मेलजोल सुनिश्चित किया है।





यहां विदेश सचिव विजय गोखले ने प्रधानमंत्री मोदी के जापान दौरे की जानकारी देते हुए कहा कि  प्रधानमंत्री मोदी 28 अक्टूबर को जापान के यामानाशी प्रिफेक्चर का दौरा करेंगे जहां विश्व प्रसिद्ध फुजी पर्वत के सामने स्थित होटल में जापानी प्रधानमंत्री एबे प्रधानमंत्री मोदी के लिये लंच आय़ोजित करेंगे। यामानाशी में ही जापानी प्रधानमंत्री एबे का दूसरा घऱ है जहां वह प्रधानमंत्री मोदी को अपने साथ ले जाएंगे औऱ उनके सम्मान में डिनर आयोजित करेंगे। यामानाशी से ही प्रधानमंत्री मोदी औऱ प्रधानमंत्री एबे बुलेट ट्रेन से टोकियो पहुंचेंगे।

29 अक्टूबर को दोनों प्रधानमंत्रियों की आधिकारिक बातचीत होगी जिसमें हिंद प्रशांत इलाके पर आपसी सहयोग के बारे में विशेष बातचीत होगी। विदेश सचिव ने कहा कि भारत और जापान एक प्रमुख सामरिक साझेदार हैं इसलिये दोनों नेता हिंद प्रशांत इलाके को लेकर साझा नजरिये पर विचारों का आदान प्रदान करेंगे। इस दौरान हिंद प्रशांत इलाके में शांति व स्थिरता के मसले पर भी बातचीत होगी।

गौरतलब है कि प्रशांत महासागर के अधीन दक्षिण चीन सागर और पूर्वी चीन सागर में चीन के विस्तारवादी रुख के मद्देनजर इस इलाके में तनाव का माहौल विकसित हो रहा है। भारत का आधा से अधिक समुद्री व्यापार इसी समुद्री इलाके से होकर होता है इसलिये भारत की हिंद प्रशांत इलाके में  विशेष रुचि है। भारत हमेशा से कहता रहा है कि समुद्री इलाके में अंतरराष्ट्रीय नियमों औऱ कानूनों का समुचित पालन हो।

दक्षिण चीन सागर में कुछ द्वीपों को लेकर चीन औऱ जापान के बीच टकराव चल रहा है  जिस वजह से दोनों देशों के बीच रिश्तों में काफी तनाव रहता है । इस पृष्ठभूमि में जापानी प्रधानमंत्री का 25 अक्टूबर से दो दिनों का चीन दौरा काफी रोचक है जिस पर दुनिया की नजर टिकी है। इसी पृष्ठभूमि में भारत द्वारा जापान और चीन के बीच मधुर होते रिश्तों का भारत द्वारा स्वागत करना अहम है क्योंकि भारत चीन के साथ भी अपने रिश्ते  बेहतर कर रहा है।

विदेश सचिव ने बताया कि अहमदाबाद-मुम्बई हाई स्पीड ट्रेन के लिये चल रहे काम की समीक्षा दोनों नेता करेंगे। गौरतलब है कि 50 हजार करोड़ रुपये के इस प्रोजेक्ट में  जापान ने 38 हजार करोड़ रुपये के सहयोग का वादा किया है। इस अनुदान की दूसरी किश्त जापान जल्द ही जारी करने वाला है।

जापान दौरे में प्रधानमंत्री मोदी के साथ जापानी व्यापारिक समुदाय भारत के साथ आर्थिक रिश्तों को औऱ गहरा करने के बारे में बातचीत करेगा। इस दौरान प्रधानमंत्री मोदी जापानी व्यापारिक संगठनों के साथ बैठक भी करेंगे।

Comments

Most Popular

To Top