International

स्पेशल रिपोर्ट: ईरान पर प्रतिबंधों का असर नहीं होगा- तुर्की

ईरान का चाबहार पोर्ट
फाइल फोटो

नई दिल्ली। तुर्की ने कहा है कि ईरान पर अमेरिकी आर्थिक  प्रतिबंधों का कोई असर नहीं पड़ेगा। क्योंकि ईरान ऐसे अमेरिकी प्रतिबंधों का आदी हो चुका है। तुर्की के राष्ट्रपति रिसेप अर्दुवां के सलाहकार डॉ. इब्राहीम कालिन ने यहां भारतीय विदेश मंत्रालय के आला अधिकारियों के साथ  सलाह मशविरा के बाद विचार संस्था आब्जर्वर रिसर्च फाउंडेशन (ओआरएफ) की एक बैठक को सम्बोधित करते हुए कहा कि ईरान पर जिस उद्देश्य से आर्थिक प्रतिबंध लगाए गए हैं वे हासिल नहीं होंगे। ईरान पर पहले भी इस तरह के प्रतिबंध लगाए गए हैं और ईरान ने इन्हें झेला है।





गौरतलब है कि अमेरिका ने ईरान के साथ छह देशों के परमाणु समझौते को यह कहते हुए तोड़ दिया है कि इस समझौते से ईरान के परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम पर रोक नहीं लगेगी । अमेरिका ने ईरान से कहा है कि यदि वह अपना परमाणु और मिसाइल कार्यक्रम को पूरी तरह रोक देगा और इसकी अंतरराष्ट्रीय जांच की अनुमति देगा तो उस पर आर्थिक प्रतिबंध नहीं लगेंगे।

तुर्की के सलाहकार डॉ. कालिन ने यहां राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल से मुलाकात कर आपसी रिश्तों की समीक्षा की और कहा कि दोनों देशों के बीच  रिश्ते अब  तक के सर्वेश्रेष्ठ दौर से गुजर  रहे हैं। तुर्की के राष्ट्रपति के दो साल पहले भारत दौरे के बाद राष्ट्रपति अर्दुवां और प्रधानमंत्री मोदी के बीच चार बार मुलाकातें हो चुकी हैं। उन्होंने कहा कि इस साल के अंत में तुर्की भारत के प्रधानमंत्री के तुर्की दौरे की उम्मीद कर रहा है।  डॉ. कालिन ने कहा कि पुलवामा में आतंकवादी हमले के बाद राष्ट्रपति अर्दुवां ने भारत और पाकिस्तान दोनों के प्रधानमंत्रियों से फोन पर बातें की हैं।  आतंकवाद उनके देश के लिये भी एक बड़ी चिंता की बात है।उन्होंने कहा कि आज जरुरत इस बात की है कि सभी देश आतंकवाद से मुकाबले के लिये आपस में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि जब तक पडोस सुरक्षित नहीं रहेगा तब तक कोई भी सुरक्षित नहीं है।

Comments

Most Popular

To Top