International

स्पेशल रिपोर्ट: कश्मीर भारत का अंदरुनी मसla- इजराइल

जम्मू-कश्मीर पुलिस

नई दिल्ली। इजराइल ने जम्मू कश्मीर मसले को भारत का अंदरुनी मसला बताया है और उम्मीद जाहिर की है कि भारत वहां के विवाद को शांति से सुलझा लेगा।





यहां विदेशी मामलों के पत्रकारों की संस्था ( IAFAC )   के सदस्यों से बातचीत करते हुए इजराइल के राजदूत डा. रान मलका ने कहा कि भारत मानवाधिकारों का सम्मान करता है।   हाल में भारत के राजदूत के तौर पर अपना पदभार सम्भालने के बाद यहां अनौपचारिक बातचीत में राजदूत ने कहा कि  इजराइल के लिये भारत काफी अहम देश है।  दोनों देशों के बीच रिश्ते काफी विस्तार ले रहे हैं।  उन्होंने कहा कि उनकी कोशिश है कि दोनों देशों के बीच दोस्ती मजबूत करने के नये चैनल कैसे खोले  जाएं।

उन्होंने कहा कि चाहे वह कृषि क्षेत्र हो या रक्षा  या साइबर सुरक्षा या आतंकवाद सभी क्षेत्रों में इजराइल भारत के साथ तकनीकी सहयोग कर रहा है।  राजदूत ने कहा कि उऩकी कोशिश होगी कि दोनों देशों के लोगों के बीच  आर्थिक रिश्ते मजबूत हों।

राजदूत ने कहा कि जहां तक आतंकवाद का सवाल है इजराइल हमेशा ही भारत का सहयोगी रहा है। आतंकवाद  भारत औऱ इजराइल भारत का  साझा दुश्मन है।

 गौरतलब है कि अगले सप्ताह ही इजराइल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतान्याहू का भारत दौरा प्रस्तावित था लेकिन अंतिम  क्षणों में इसे रद्द कर दिया गया। इस बारे में पूछे जाने पर राजदूत ने सीधा जवाब नहीं दिया लेकिन कहा कि इजराइल में अगले दस दिनों बाद चुनाव हो रहे हैं इसलिये  घरेलू व्यस्तता की वजह से दौरा स्धगित किया गया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नेतान्याहू जल्द ही भारत का दौरा करेंगे।

 राजदूत ने कहा कि कृषि और जल संरक्षण की इजराइली तकनीक से भारतीय किसानों की मदद की जा रही है। इनके लिये देश भऱ में  28 सेंटर खोले गए हैं जहां डेढ़ लाख से अधिक भारतीय किलानों को  नई तकनीक औऱ खेती के नये तरीके सिखाए गए हैं।

Comments

Most Popular

To Top