International

खास रिपोर्ट: ‘पाक दिवस’ का बहिष्कार करेगा भारत

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता

नई दिल्ली। 23 मार्च को पाकिस्तान दिवस के मौके पर नई दिल्ली और इस्लामाबाद में आयोजित स्वागत समारोह का भारत आधिकरिक तौर पर बहिष्कार करेगा। इस बारे में पूछे जाने पर यहां विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि भारत ने यह फैसला इसलिये लिया है कि पाकिस्तान सरकार ने भारत की यह बात नहीं सुनी कि अपने स्वागत समारोहों में जम्मू कश्मीर के हुर्रियत अलगावादी नेताओं को आमंत्रित नहीं करे।





भारत ने पाकिसतान को आगाह किया था कि हुर्रियत नेताओं को भारत अलगाववादी मानता है और भारत नहीं चाहेगा कि भारत को विभाजित करने की चाहत रखने वाले किसी नेता को पाकिस्तान अपने समारोह में आमंत्रित करे।

 गौरतलब है कि पाकिस्तान या किसी भी देश के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर दूतावासों में आयोजित स्वागत समारोहों में  भारत अपने किसी मंत्री को भाग लेने के लिये भेजता है।  पिछले साल भी पाकिस्तान दिवस के मौके पर भारत ने अपने राज्य मंत्री स्तर के एक प्रतिनिधि को भेजा था। इसी तरह इस्लामाबाद में भी पाकिस्तान दिवस के मौके पर जो स्वागत समारोह आयोजित हो रहा है वहां भी भारतीय उच्चायुक्त शरीक नहीं होंगे।

यह पहला मौका होगा कि पाकिस्तान के राष्ट्रीय दिवस के मौके पर भारत अपने आधिकारिक प्रतिनिधि को नहीं भेजेगा।

सवालों के जवाब में प्रवक्ता ने यह साफ किया कि भारत का यह फैसला पुलवामा आतंकी हमले से नहीं जुड़ा है। प्रवक्ता ने कहा कि हुर्रियत नेताओं को पाकिस्तानी उच्चायोग में विशेष आमंत्रण मिलने को लेकर भारत हमेशा एतराज जाहिर करता रहा है।

Comments

Most Popular

To Top