International

Special Report: भारत यूरोपीय संघ में सामरिक रिश्तों पर संतोष

भारत और यूरोपीय संघ

नई दिल्ली। भारत और यूरोपीय संघ के बीच सामरिक साझेदारी के रिश्तों की समीक्षा के लिये यहां बैठक  सम्पन्न हुई जिसमें अगले साल बेल्जियम की राजधानी ब्रसल्स में भारत-यूरोपीय संघ शिखर बैठक की तैयारियों के अलावा दोनों पक्षों के बीच आपसी रिश्तों के बारे में चर्चा की गई।





इसके लिये यूरोपीय संघ के विदेश विभाग के डिपुटी सेक्र्टेरी जनरल क्रिश्चयन लेफलर और उनके सहयोगियों के साथ यहां विदेश मंत्रालय के आला अधिकारियों के साथ बैठक  हुई।  इस बैठक के बाद  यूरोपीय संघ के उपसहायक सेक्ट्रेरी जनरल ने  विदेश सचिव विजय गोखले के अलावा भारत के  उपराष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार और लोकसभा के विदेशी मामलों की स्थायी समिति के अध्यक्ष से भी मुलाकात की।

सामरिक साझेदारी की समीक्षा बैठक के दौरान  राजनीतिक और सुरक्षा मसलों से लेकर पर्यावरण बदलाव, ऊर्जा , आविष्कार और शिक्षा,  विज्ञान और तकनीक ,  सचलता और सतत विकास के लक्ष्यों जैसे क्षेत्रवार विषयों पर चर्चा की गई। इस दौरान दोनों पक्षों ने भारत यूरोपीय संघ के रिश्तों में प्रगति की मौजूदा स्थिति पर संतोष जाहिर किया। इस दौरान नियम आधारित अंतरराष्ट्रीय कानूनों के पालन के बारे में भी चर्चा छिड़ी। इस बैठक में व्यापारिक और आर्थिक रिश्तों के बारे में भी गहन चर्चा की गई। यूरोपीय संघ ने आर्थिक और व्यापार मसलों पर मंत्रिस्तरीय वार्ता का प्रस्ताव रखा।

 इस वार्ता के बारे में यूरोपीय संघ ने कहा कि यूरोपीय संघ विश्व व्यापार संगठन को केन्द्र में रख कर  बहुराष्ट्रीय व्यापार व्यवस्थाओं में भरोसा करता है।  20 विकसित और विकासशील देशों के संगठन जी-20 में एक साझेदार के तौर पर यूरोपीय संघ और भारत सतत विकास के वैश्विक एजेंडा को आगे बढ़ाएंगे।

Comments

Most Popular

To Top