International

स्पेशल रिपोर्ट: चीन अब बनाने जा रहा है तीसरा विमानवाहक पोत

चीन का एयरक्राफ्त करिअर
फाइल फोटो

नई दिल्ली। चीन अब तीसरा विमानवाहक पोत बनाने की तैयारी कर रहा है। यह पोत एशिया की किसी नौसेना के विमानवाहक पोत से बड़ा होगा। माना जा रहा है कि टाइप-002 नाम वाले इस पोत की विस्थापन क्षमता एक लाख टन से कुछ कम हो सकती है।





चीन के पास फिलहाल दो विमानवाहक पोत हैं। 2002 में हासिल चीन का पहला टाइप-001 किस्म का 43 हजार टन विस्थापन क्षमता वाला विमानवाहक पोत ल्याओनिंग सोवियत काल का है जब कि दूसरा पोत इसी डिजाइन पर 2017 में लॉन्च किया गया था और अगले साल इसे चीनी नौसेना में शामिल किया जाएगा। इन पोतों पर करीब 25 विमान तैनात किये जा सकते हैं जब कि नए डिजाइन किये जा रहे पोत पर 50 से अधिक विमान तैनात हो सकते हैं।

गौरतलब है कि भारतीय नौसेना के पास फिलहाल एक विमानवाहक पोत विक्रमादित्य है जब कि विक्रांत नाम के दूसरे पोत का निर्माण अंतिम दौर में है। तीसरे पोत बनाने पर भी लम्बे अर्से से विचार चल रहा है लेकिन कोई अंतिम फैसला नहीं लिया गया है। तीसरे विमानवाहक पोत की क्षमता किसी भी अमेरिकी विमानवाहक पोत के समकक्ष होगी। इस पोत को शामिल करने के बाद चीन एशिया की अग्रणी समुद्री ताकत बन जाएगा। शांघाई के निकट च्येंगनान शिपयार्ड में तीसरे विमानवाहक पोत बनाने की गतिविधियां उपग्रह से देखी गई हैं। सामरिक और अंतरराष्ट्रीय और सामरिक अध्ययन केन्द्र (CSIS) की एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले छह महीने से च्येंगनान नौसैनिक गोदी पर किसी बड़ा पोत बनाने की गतिविधियां देखी जा रही हैं। इस संस्था ने कहा है कि इसके बारे में अभी सीमित जानकारी ही है लेकिन जो कुछ देखा गया है उससे यह साफ है कि यह विमानवाहक पोत बनाने की ही तैयारी है।

अमेरिकी रक्षा मुख्यालय पेंटागन ने कुछ दिनों पहले कहा था कि चीन का यह पहला पूरे आकार वाला यानी किसी अमेरिकी पोत के समकक्ष आकार वाला पोत होगा। पेंटागन ने गत शुक्रवार को चीन के सैन्य आधुनिकीकरण पर जारी अपनी वार्षिक रिपोर्ट में कहा है कि तीसरा पोत पहले दो से बड़ा होगा और इस पर कैटापल्ट लॉन्च प्रणाली लगी होगी जिससे इस पोत पर तैनात विमानों की टेक ऑफ औऱ लैंडिंग तेजी से हो सकेगी। पहले दो पोतों की तुलना में इस पर अधिक संख्या में लड़ाकू विमान तैनात किये जा सकते हैं। इस पर एक बड़े आकार वाला टोही विमान भी तैनात हो सकता है।

Comments

Most Popular

To Top