International

स्पेशल रिपोर्ट: आतंकी मसूद अजहर के खिलाफ फ्रांस में प्रतिबंध

आतंकी मसूद अजहर
फाइल फोटो

नई दिल्ली। पाकिस्तान स्थित आतंकवादी गुट जैश ए मोहम्मद के खिलाफ फ्रांस ने राष्ट्रीय स्तर पर  पाबंदी लगाने का ऐलान किया है।





गत  बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद  में इस आशय का प्रस्ताव चीन द्वारा वीटो लगाने के बाद फ्रांस की ओर से भारत को यह अहम समर्थन मिला है। गौरतलब  है कि सुरक्षा परिषद में मसूद अजहर के खिलाफ  जो प्रस्ताव पेश किया गया था उसे फ्रांस ने अमेरिका और ब्रिटेन के साथ मिल कर पेश किया था। लेकिन सुरक्षा परिषद द्वारा इस प्रस्ताव को मंजूर नहीं करने के बाद फ्रांस द्वारा अपने देश में और यूरोपीय देशों में भी मसूद  अजहर को प्रतिबंधित करवाने औऱ इसकी सम्पत्ति जब्त करवाने का यह कदम उठाना काफी अहम है।

यह ऐलान करते हुए फ्रांस के यूरोप और विदेशी मामलों के मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि पुलवामा में 14 फरवरी को एक घातक हमला किया गया। इसमें भारतीय सुरक्षा बलों के 40 जवान मारे गए। बयान के मुताबिक जैश ए मोहम्मद ने इस हमले की जिम्मेदारी ली है। संयुक्त राष्ट्र ने साल 2001 से इस पर पाबंदी लगाई हुई है।

फ्रांसीसी बयान में कहा गया है कि फ्रांस हमेशा से आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़ा रहा है। फ्रांस ने अपने मोनेटरी और फिनांशियल कोड के तहत फ्रांस में मसूद अजहर की सम्पत्ति को जब्त कर लिया है।  इस बारे में एक साझा आदेश अंदरूनी मामलों और वित्त व आर्थिक मामलों के मंत्रालयों ने जारी किया है।  इसे फ्रांस के सरकारी गैजट में प्रकाशित किया गया है।

 बयान के मुताबिक फ्रांसीसी सरकार ने कहा है कि वह इस मसले को अपने यूरोपीय साझेदारों से उठाएगी। ताकि यूरोपीय संघ प्रतिबंधित व्यक्तियों की सूची में शामिल कर ले।

Comments

Most Popular

To Top