International

स्पेशल रिपोर्ट: क्राइमिया के रूस में पुन: विलय के 5 साल

रूस के राष्ट्रपति पुतिन
फोटो सौजन्य- गूगल

नई दिल्ली। क्राइमिया गणराज्य को रूसी महासंघ में पुन: विलय की 5वीं सालगिरह पर यहां रूसी राजदूत निकोलाई कुदाशेव ने कहा है कि क्राइमिया के राजनीतिक और वैधानिक दर्जे को अंतरराष्ट्रीय कानूनों के मानकों के अनुरूप लागू किया गया है। गौरतलब है कि क्राइमिया के रूस में विलय के कदम को भारत ने उचित बताया था।





उल्लेखनीय  है कि पांच साल पहले उक्रेन गणराज्य का इलाका क्राइमिया को रूस ने अपने में विलय कर लिया था। रूस का दावा है कि क्राइमिया रूसी महासंघ का ही एक हिस्सा रहा है और वहां अधिकतर आबादी रूसी मूल के हैं जो अब पांच साल से रूसी महासंघ में एक नये राजनीतिक और सामाजिक माहौल का आनंद ले रहे हैं। राजदूत कुदाशेव ने मिसाल के तौर पर कहा कि सर्बिया के प्रांत कोसोवो को बिना जनमतसंग्रह के ही आजाद घोषित कर दिया गया। यह फैसला केवल संसद में वोट के जरिये लिया गया और यह उत्तरी अतलांतिक संधि संगठन ( नाटो) की  सेना की देखरेख में  हुआ। दूसरी ओर क्राइमिया का रुस में एकीकरण पूर्ण जनतांत्रिक तरीके से ही किया गया।

  राजदूत कुदाशेव ने कहा कि क्राइमिया के सभी समुदायों के धार्मिक और सामाजिक हितों को  संरक्षित किया गया है। पश्चिमी देशों के  प्रच्रार के विरुद्ध  क्राइमिया में अंतरराष्ट्रीय  आर्थिक निवेश और पर्यटन को लेकर रुचि काफी बढ़ी  है और वहां अब तक 2.5 अरब डालर का निवेश विभिन्न क्षेत्रों में हुआ है। इसके जरिये 184 परियोजनाएं लागू की जा रही हैं और हजारों लोगों को रोजगार मिला है। क्राइमिया अब एक अंतरराष्ट्रीय निवेश स्थल बन चुका है औऱ यहां येल अंतरराष्ट्रीय आर्थिक मंच का आयोजन होता है जिसमें भारी संख्या में अंतरराष्ट्रीय व्यापारिक प्रतिनिधि भाग लेते हैं।

क्राइमिया प्रायद्वीप को रूसी मुख्य भूमि से जोड़ने के लिये कई ढांचागत प्रोजेक्ट लागू हो चुके हैं जिससे वहां के लोगों का शेष रूस के साथ सामाजिक और आर्थिक एकीकरण बेहतर तरीके से होने लगा है। राजदूत ने कहा कि 2014 में जब क्राइमिया रूसी महासंघ में शामिल होने की प्रक्रिया में था तब उक्रेन ने वहां पानी की सप्लाई रोक दी थी। इस संकट से बचने के लिये क्राइमिया के अधिकारियों ने कई पानी पाइपलाइन बिछा ली हैं जिससे वहां अब हालात सामान्य हो चुके है। रूसी महासंघ को क्राइमिया से जोडने के  लिये क्राइमिया पुल पिछले साल मई में चालू हो चुका है।

Comments

Most Popular

To Top