International

हथकड़ी में पूर्व राष्ट्रपति, बोलीं मैंने नहीं की कोई बेईमानी

पार्क ग्यून हे

सोल। दक्षिण कोरिया की पूर्व राष्ट्रपति पार्क ग्यून हे के खिलाफ भ्रष्टाचार मामले की सुनवाई मंगलवार को शुरू हो गई। उन्होंने अदालत से कहा कि वह दोषी नहीं हैं। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली। एक रिपोर्ट के अनुसार, अपदस्थ राष्ट्रपति पर घूस लेने, सत्ता के दुरुपयोग करने और सरकारी गोपनीयता भंग करने समेत 18 आरोप लगाए गए हैं जो एक लाख बीस हजार पृष्ठों में उल्लिखित हैं।





विदित हो कि गत मार्च महीने में हुई उनकी गिरफ्तारी के बाद वह पहली बार सार्वजनिक रूप से दिखीं। लेकिन इस बार उनके हाथों में हथकड़ी लगी हुई थी। वह काले रंग के सूट में थी और उनकी छाती पर कैदी नम्बर 503 का बिल्ला लगा हुआ था। उनके ऊपर लगे आरोपों के साबित होने पर उन्हें अधिकतम उम्र कैद की सजा दी जा सकती है।

पार्क पर आरोप है कि उन्होंने राजनीतिक लाभ पहुंचाने की एवज में अपनी सहेली चोई सून सिल को सैमसंग जैसी देश की बड़ी कंपनियों से धन ऐंठने की छूट दी थी। चोई भी भ्रष्टाचार समेत कई आरोप झेल रही हैं। मुकदमे की जब सुनवाई शुरू हुई तो वह भी पार्क के बगल में बैठी थीं।

पार्क के वकील ने अदालत से कहा कि कोई कारण नहीं है कि मेरी मुवक्किल ने कंपनियों को चंदा देने के लिए दबाव डाला हो, क्योंकि वह उस धन का उपयोग अपने लिए नहीं कर सकती थीं।

उल्लेखनीय है कि पार्क तीसरी कोरियाई नेता हैं जिन पर भ्रष्टाचार का मुकदमा चला है, लेकिन जनतांत्रिक ढ़ंग से चुनी जा चुकी वह पहली नेता हैं। पूर्व राष्ट्रपति के खिलाफ भी उसी अदालत में सुनवाई हो रही है जहां पहले के दो नेताओं की हुई थी।

Comments

Most Popular

To Top