International

अमेरिका में बारिश-बर्फ और बाढ़ का कहर, 6000 उड़ानें रद

न्यू यॉर्क। स्टेला तूफान ने मंगलवार को पूर्वोत्तर अमेरिका में अपना रौद्र रूप दिखाना शुरू कर दिया है। इस दौरान बड़े पैमाने पर बर्फ गिर रही है। नतीजा है कि प्रभावित इलाकों के सभी स्कूल बंद कर दिए गए हैं और 6,000 से ज्यादा उड़ानें रद कर दी गई हैं। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली। उल्लेखनीय है कि डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति पद संभालने के बाद पहली बार प्राकृतिक आपदा आई है। उन्होंने कहा कि गृह मंत्रालय और संघीय आपातकाल प्रबंधन एजेंसी से उनकी बातें हुई हैं और वे राहत और बचाव कार्य के लिए तैयार हैं। समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार, 60 मील प्रति घंटे की रफ्तार से बफीर्ली हवाएं चल रही हैं और उम्मीद है कि न्यू यॉर्क में करीब दो फीट मोटी बर्फ की चादर बिछ जाएगी।





बर्फीले तूफान के कारण वर्जीनिया से पेंसिल्वानिया तक की बिजली गुल हो गई। इससे करीब एक लाख प्रभावित हुए। प्रशासन ने पेंसिल्वानिया, न्यू जर्सी, न्यूयॉर्क, कनेक्टीकट, रोडे आईलैंड, मैसाचूसेट्स, न्यू हैम्पशायर, मैंन और वरमोंट में अलर्ट घोषित घोषित कर रखा है।

कुछ इस तरह से हो रही है अमेरिका में बर्फबारी

तूफान आने की चेतावनी जारी होने के बाद वाशिंगटन में राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और जर्मन चांसलर एंजेला मोर्केल के बीच होने वाली बैठक शुक्रवार तक स्थगित कर दी गई है। इतना ही नहीं न्यू यॉर्क और न्यू जर्सी में आपातकालीन स्थिति की घोषणा की गई है।

सड़क और कार दोनों ही बर्फ से ढक गए हैं

राष्ट्रीय मौसम सेवा (एन डब्ल्यूएस) ने सोमवार की आधी रात ( मंगलवार को जीएमटी 0400 बजे ) से अमेरिका के उत्तर में कनेक्टिकट से दक्षिण में न्यू जर्सी तक बड़े शहरों के लिए 24 घंटे की चेतावनी जारी की है। इसके अलावा मेन से वर्जीनिया तक भी चेतावनी जारी की गई है। उधर, राष्ट्रीय उद्यान सेवा ने कहा है कि वाशिंगटन के 90 प्रतिशत चेरी ब्लॉसम फूल नष्ट हो जाएंगे।

न्यू यॉर्क स्थित संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय को भी बंद किया जाएगा जिससे महिला सम्मेलन में भाग लेने वाले हजारों प्रतिनिधियों को भारी असुविधा होगी। उम्मीद की जा रही है कि वित्तीय बाजार खास तौर पर वाल स्ट्रीट में काम करने वाले लोग मंगलवार और बुधवार को अपने घर से ही काम करेंगे।

इस तूफान का नाम स्टेला (Stella) है, जो दो दिन तक रहेगा। स्टेला 60 मील प्रतिघंटे की रफ्तार से आगे बढ़ रहा है। न्यूयार्क में बर्फीले तूफान की वजह से बर्फ की 6 फिट मोटी परत जम गई है जिससे सड़कों पर आवागमन बाधित हुआ है। यह इंग्लैंड में शुक्रवार को दस्तक देगा। इस तूफान से भारी जान-माल की क्षति होने की संभावना है। इस बार रिकॉर्ड तोड़ लगातार 30 दिनों तक बर्फबारी हुई है।

Comments

Most Popular

To Top