International

महिला के भेष में आतंकियों का ईरानी संसद पर हमला, 12 मरे

ईरानी संसद पर हमला

तेहरान। ईरान की राजधानी तेहरान में बुधवार को संसद और इस्लामिक गणराज्य के संस्थापक व धार्मिक नेता अयातुल्ला खोमेनी की मजार पर हुई गोलीबारी में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गई है और करीब दर्जन भर लोग घायल हो गए हैं। सुरक्षा एजेंसियों ने ऐसे ही एक और आतंकी गुट को पकड़ लिया जो तीसरा हमला करने की फिराक में था। हमलों की जिम्मेदारी आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) ने ली है। एक समाचार एजेंसी की खबरों में बताया गया है कि तीसरे हमले की साजिश नाकाम करते हुए खुफिया मंत्रालय ने लोगों से सार्वजनिक ट्रांसपोर्ट इस्तेमाल न करने की सलाह दी है।





ईरानी मीडिया ने बाद में बताया कि संसद में घुसे चार हमलावरों को सुरक्षा बलों ने मार गिराया है। संसद परिसर के दूसरे हिस्से में सांसद संसद सत्र में हिस्सा ले रहे थे। उप आंतरिक मंत्री मोहम्मद होसेन ज़ोल्फाघरी ने ईरान के सरकारी टीवी को बताया कि हमलावरों ने महिला के भेष में संसद में इंट्री ली थी।

बीबीसी के अनुसार, स्थानीय प्रशासन ने कहा कि इस हमले में तीन महिलाएं और एक पुरुष हमलावर शामिल था। इनमें से कुछ को सुरक्षा बलों ने जीवित पकड़ लिया है। लेकिन प्रशासन ने संसद भवन के अंदर लोगों को बंदी बनाए जाने की खबर का खंडन किया है। हमले के दौरान संसद में सभी सांसद मौजूद थे। यह एक सुनियोजित हमला था और दोनों जगहों पर हमले एक ही समय में किए गए।

ईरानी संसद पर हमला

ईरानी संसद

ईरानी संसद (फाइल फोटो)

ईरानी संसद पर हमला

संसद भवन के बाहर ईरानियन रिवोल्यूशनरी गार्ड के जवान

ईरानी संसद पर हमला

खोमेनी के मकबरे के पास पड़ी एक संदिग्ध आतंकी की बाडी

घटनाक्रम के अनुसार राइफल और पिस्टल लिए चार आतंकवादी महिला के भेष में संसद परिसर में घुसे। एक हमलावर ने चौथी मंजिल पर खुद को उड़ा लिया। यह जानकारी अर्द्धसरकारी समाचार एजेंसी ISNA ने दी। घटना के बाद से संसद के ऊपर हेलिकाप्टर मंडरा रहे हैं। प्रवेश और निकास द्वार बंद कर दिए गए। भीतर के सभी मोबाइल फोन लाइनें काट दी गईं। चश्मदीदों का कहना है कि आतंकियों ने चौथी मंजिल से नीचे की ओर जमकर फायरिंग की। हमले के समय संसद के पास से गुजर रहे इब्राहिम घनीमी ने बताया कि मैंने सोचा कि बच्चे पटाखे छुडा रहे हैं लेकिन फिर मैंने देखा लोग छुपाने की कोशिश कर रहे हैं और गलियों में भाग रहे हैं।

ईरानी संसद पर हमला

संसद से 12 मील दूर खोमेनी के मकबरे में यह द्रश्य उस वक्त का है जब आत्मघाती हमलावर ने खुद को उड़ा लिया था

संसद पर हमले के करीब आधा घंटे के बाद संसद से 12 मील दूर खोमेनी की मजार के परिसर में पश्चिमी द्वार से तीन-चार लोगों ने प्रवेश किया और गोलियां बरसानी शुरू कर दीं। एक हमलावर ने आत्मघाती बेल्ट पहन रखी थी जिससे कि उसने खुद को उड़ा लिया। यह हमलावर महिला बताई जा रही है। एक सुरक्षाकर्मी और एक माली की मौत हो गई तथा चार लोग घायल हो गए।

विदित हो कि कथित इस्लामिक स्टेट (आईएस) ने हमले की जिम्मेवारी ली है और उसने इस साल ईरान के भीतर हमले करने की बात कही भी थी। फ़रवरी और मार्च में इस्लामिक स्टेट के साप्ताहिक अरबी अख़बार अल-नाबा ने अपने पहले पन्ने पर संपादकीय लिखे थे, जिनमें ईरान के अल्पसंख्यक सुन्नी मुसलमानों को ईरानी सरकार के ख़िलाफ़ विद्रोह करने के लिए उकसाया गया था।

Comments

Most Popular

To Top