International

लंदन हमला : स्काटलैंड यार्ड भी हैरान है खालिद मसूद के दांव-पेंच से

खालिद मसूद

नई दिल्ली: लंदन में संसद के भीतर जाने की नाकाम कोशिश के दौरान चार लोगों की जान लेने वाले आतंकवादी खालिद मसूद का पूरा किरदार अजीब सी पहेली बना हुआ है। 52 साल के इस शख्स ने अंधाधुंध कार दौड़ाने से सिर्फ दो मिनट पहले ही अपने फोन पर व्हाट्सअप भी इस्तेमाल किया था।





विदेशी मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक स्कॉटलैंड यार्ड के आतंकवाद निरोधक दस्ते और खुफिया एजेंसी एमआई 5 के जासूस खालिद के जीवन में हुई घटनाओं को जोड़कर ये पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि खालिद के बर्बर होने की वजह क्या है? बुधवार को खालिद के मारे जाने के बाद जांचकर्ताओं ने उसके और उसकी कार से मिले सामान की गहराई से पड़ताल करनी शुरू की तो एक के बाद एक कई जानकारियां सामने आती गईं। लेकिन इन जानकारियों ने खालिद का राज खुलने के बजाय और उलझा दिया।

दो बार जेल जा चुका था

ब्रिटेन में जन्मे खालिद का असली नाम एर्डिअन अजाओ था लेकिन पैदाइश के वक्त नाम एर्डिअन अजाओ था लेकिन पैदाइश के वक्त उसका नाम एर्डिअन इम्स दर्ज है। जीवन के 20 साल में उसका जुर्म से नाता रहा और इस दौरान वह दो बार जेल की हवा भी खा चुका था। एक दशक से थोड़ा पहले ही उसने इस्लाम कबूल किया और अपना नाम बदला।

खालिद मसूद

खालिद मसूद स्कूल में (बाएँ और दाएं) तथा उस समय जब वह चाकू के साथ पकड़ा गया था

…घटना में अकेला खालिद ही शामिल था

आतंकवादी संगठन आईएस ने बेशक इस कांड की जिम्मेदारी ली है लेकिन जांचकर्ताओं को अब तक जो जानकारियां हासिल हुई हैं उसमें उन्हें लगता है कि इस घटना में खालिद अकेला ही शामिल था। वैसे जांचकर्ता बुधवार को इस घटना से ठीक पहले उस जगह की CCTV रिकॉर्डिंग खंगाल रहे हैं जहां से खालिद कार में सवार हुआ या रास्ते में रुका ताकि पता लगाया जा सके कि इस बीच क्या वह किसी और से भी मिला था।

दो लोग हिरासत में, बाकी को पुलिस ने छोड़ा

वैसे पुलिस ने अब तक इस मामले में जिन लोगों को पकड़ा है उनमें से दो के अलावा बाकी सबको छोड़ दिया है। पुलिस ने 9 लोगों को मामले में गिरफ्तार किया था। इनमें से एक महिला को जमानत पर रिहा किया गया। जो दो लोग गिरफ्तार हैं उनमें से एक की उम्र 58 साल और दूसरे की 27 साल है। ये दोनों मेनचेस्टर और बर्मिंघम से पकड़े गए थे। और जांचकर्ताओं ने इन्हें अहम गिरफ्तारियां करार दिया। खालिद से ताल्लुक रखने वाली एक और जगह पर छापा मारा गया। ये जगह वेल्स का एक फार्म हाउस है जो उसकी मां के नाम पर है। उसके दो सौतेले भाई भी हैं।

रात में लोगों को हंसाया और दिन में रुलाया

हैरानी की बात है कि वारदात से पहले वाली रात खालिद उस होटल में लोगों से खूब हंस बोल रहा था और चुटकले भी सुना रहा था। जांचकर्ताओं को ये जानकारियां उस होटल से मिली जहां उसने एक हफ्ते से कमरा लिया हुआ था।

Comments

Most Popular

To Top