International

तुर्की तट के पास कैसे डूब गया रूसी खुफिया जहाज

रूस

अंकारा। तुर्की के तट के पास रूस का एक खुफिया जहाज लीमान एक मालवाहक जहाज से टकराकर डूब गया है। जहाज के चालक दल के सभी सदस्यों को बचा लिया गया है। यह जानकारी शुक्रवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।





तुर्की के तटरक्षक बल ने काला सागर में दुर्घटनाग्रस्त रूसी जहाज के चालक दल के सभी 78 सदस्यों को बचा लिया है। रूस ने भी घटना की पुष्टि की है। अभी तक यह पता नहीं चला है कि यह दुर्घटना कैसे हुई, लेकिन इलाके में कोहरा छाया हुआ था। यह दुर्घटना तुर्की के काला सागर तट पर किलयोस शहर से करीब 18 किलोमीटर दूर हुई है। मालवाहक जहाज़ को इस हादसे में मामूली नुकसान हुआ है।

रूसी जंगी जहाज

माना जा रहा है कि रूसी जंगी जहाज इसी मालवाहक जहाज योजर्सिफ एच से टकराया था

तुर्की की मीडिया के अनुसार, जासूसी जहाज लीमान टोगो के एक जहाज़ से टकराया जिसमें जानवर ले जाए जा रहे थे। समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, तुर्की के प्रधानमंत्री बिनाली यिल्दिरिम ने रूसी प्रधानमंत्री दिमित्री मेदवेदेव को इस हादसे के बारे में जानकारी दी है। उल्लेखनीय है कि काला सागर में रहने वाले रूसी जंगी जहाज़ों का बेड़ा भूमध्यसागर में जाने के लिए बोस्फ़ोरस स्ट्रेट (जलसंधि) से होकर गुज़रता है।

रूस की समाचार एजेंसी इंटरफ़ेक्स के मुताबिक, काला सागर बेड़े की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि रूसी दल सभी नियमों का पालन कर रहा था और संभवतः हादसा दूसरे जहाज़ की गलती की वजह से हुआ है। काला सागर बेड़े के पूर्व कमांडर एडमिरल विक्टर क्रावशेन्को ने समाचार एजेंसी इंटरफ़ेक्स से कहा कि यह हादसा असामान्य है। उन्होंने कहा कि टक्करें होती रही हैं, लेकिन उन्हें याद नहीं आता जब कोई जंगी जहाज़ इस तरह डूब गया हो।

रिपोर्टों के मुताबिक नौसेना के बारे में लिखने वाली एक रुसी वेबसाइट के मुताबिक, यह जंगी जहाज़ क्रीमिया के सेवास्तोपोल में तैनात था और दशकों से सीरिया के तारतुस बंदरगाह पर आता जाता रहा था। गौरतलब है कि लीमान जहाज 1999 में तब सुर्ख़ियों में आया था जब उसे  भूमध्य सागर में नाटो की गतिविधियों की निगरानी के लिए तैनात किया गया था।

Comments

Most Popular

To Top