International

रूस ने आतंकियों पर गिराया सभी बमों का बाप

फादर ऑफ आल बम

मास्को। कुछ महीने पहले अमेरिका ने अफगानिस्तान में आतंकियों के ठिकाने पर एक विशाल बम गिराया था। उस बम का नाम GBU-43 बताया गया था। इस बम को ‘मदर्स ऑफ आल बम’ कहा गया था। उस वक्त रूस ने ‘फादर ऑफ आल बम’ बनाने का दावा किया था। दावा यह भी किया गया था कि उसका बम मदर्स ऑफ आल बम से चार गुना ज्यादा शक्तिशाली है। अब खबर यह आ रही है कि रूस ने वही फादर ऑफ आल बम सीरिया में आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट पर गिराया है। रूस के इस बम को दुनिया का सबसे ताकतवर गैर परमाणु बम बताया जा रहा है।





बम गिराने की खबर की रूस ने हालांकि पुष्टि नहीं की है लेकिन कुछ रिपोर्ट्स में दावा किया जा रहा है कि रूस ने 7 सिंतबर को यह बम गिराया। खबरों के मुताबिक रूस ने द ऐविएशन थर्मोबरिक बॉम्ब ऑफ इन्क्रीज्ड पावर (ATBIP) नामक इस बम को देर-इज जोर प्रांत में आईएस के कमांडर्स पर गिराया। खबर है कि इस हमले में 40 से ज्यादा आतंकी मारे गये।

सीएनएन के मुताबिक रूस ने इस बम को वर्ष 2007 में डेवलप किया था। यह नुकसान तो परमाणु बम जितना ही करता है लेकिन इससे रेडिएशन का खतरा नहीं होता। सिर्फ रूस के पास यह बम है। यह बम गिराने के बाद हवा में फट जाता है। हवा और ईंधन के मेल से यह भयावह हो जाता है। बम के फटने से इतनी ऊर्जा और उष्मा निकलती है कि यह अपने टारगेट को भाप में बदल देता है। इस बम का वजन 7100 किलो है और इसके फटने से 44 टन ऊर्जा पैदा होती है। अमेरिका के मदर्स आफ आल बम फटने के बाद सिर्फ 11 टन ऊर्जा पैदा कर पाता है।

Comments

Most Popular

To Top