International

भारत की दो टूक- अंतर्राष्ट्रीय आतंक का चेहरा है पाकिस्तान

भारत-पाकिस्तान

जिनेवा। बढ़ते आतंकवाद के मुद्दे पर एक बार फिर भारत ने पाकिस्तान को संयुक्त राष्ट्र में बेपर्दा किया है। संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद की मीटिंग के दरम्यान भारत ने अपने पड़ोसी पाकिस्तान को अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद का चेहरा बताया है। इतना ही नहीं भारत ने इस्लामाबाद से आतंकवाद की फैक्ट्रियां बंद करने तथा इसके आतंकवादियों को सजा दिलवाने को भी कहा है।





मानवाधिकार परिषद के 36वें सेशन में पाकिस्तान के बयान का सख्त जवाब देते हुए भारतीय विदेश सेवा ऑफिसर डॉ. विष्णु रेड्डी ने इस्लामाबाद को आतंकवाद का चेहरा बताया। रेड्डी ने अपने जवाब में कहा कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री तक ने खुद माना है कि लश्कर-ए-तैयबा, जैश-ए-मोहम्मद जैसे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिबंधित संगठन पाकिस्तान की जमीन से संचालित हो रहे हैं। पाकिस्तान को इन आतंकवाद की खुली फैक्ट्रियों को बंद करना चाहिए और अपराधियों को सजा दिलानी चाहिए।

रेड्डी ने फिर कहा कि जम्मू-कश्मीर आतंकी हमलों को अंजाम देने में बॉर्डर पार से मिल रहे समर्थन के सबूत पाकिस्तान को सौंप दिए गए हैं। उन्होंने आगे कहा कि जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है और वह हमेशा रहेगा, पाकिस्तान के जम्मू-कश्मीर पर दिए बयान को बेतुका और तथ्यात्मक तौर पर गलत बताया। रेड्डी ने कहा, ‘यह बयान भ्रमित करने वाला है। मैं आप सभी को फिर बता दूं कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और हमेशा रहेगा।’

रेड्डी के अनुसार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर आतंकवाद का गढ़ बन गया है। इन मसलों को सुलझाने के लिए जिम्मेदारी भरा रवैया अपनाने चाहिए पर वह इसकी बजाय बेतुके बयान देकर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का ध्यान भटकाने का प्रयास कर रहा है। अब वक्त आ गया है जब पाकिस्तान को आत्मचिंतन करना चाहिए और PoK में मनावाधिकारों की स्थिति सुधारने के लिए काम करना चाहिए।

Comments

Most Popular

To Top