International

मोदी सरकार आने के बाद कब-कब हुई पाकिस्तान से बात

नई दिल्ली: भारत-पाकिस्तान के बीच तल्खियों की खबरें अक्सर आती रही है लेकिन दोनों देशों के बीच नेता और सैन्य अफसर स्तरीय वार्ता लगातार होती रही है। केंद्र सरकार ने मई 2014 से लेकर 2016 तक दोनों देशों के नेताओं/सैन्य अफसरों की मुलाकात से जुड़ी जानकारियां साझा की हैं।





मई, 2014 के बाद मुलाकात का ब्योरा

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी सरकार के शपथ ग्रहण समारोह में भाग लेने के लिए भारत आए पाकिस्तानी प्रधानमंत्री नवाज शरीफ से 27 मई, 2014 को मुलाकात की थी।

उसके बाद प्रधानमंत्री ने शंघाई निगम संगठन सम्मेलन के दौरान नवाज शरीफ से 10 जुलाई, 2015 को उफा (रूस) में मुलाकात की थी। इसके बाद सीओपी 21 सम्मेलन में शामिल होने के लिए अपने पेरिस दौरे के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ के साथ 30 नवंबर, 2015 को शिष्टाचार भेंट की। काबुल से लौटते समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 25 दिसंबर, 2015 को लाहौर में रुके और पाकिस्तानी प्रधानमंत्री के पैतृक निवास में पारिवारिक कार्यक्रम में भाग लिया।

हार्ट ऑफ एशिया पर पांचवें मंत्रीस्तरीय सम्मेलन में भाग लेने के लिए विदेश मंत्री ने 09 दिसंबर, 2015 को इस्लामाबाद का दौरा किया और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ तथा सरताज अजीज से भी मुलाकात की।

दोनों देशों के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकारों (एनएसए) ने 06 दिसंबर, 2016 को बैंकाक में मुलाकात की थी। सार्क दौरे के एक भाग के रूप में, विदेश सचिव ने 03 मार्च, 2015 को पाकिस्तान का दौरा किया और अपने पाकिस्तानी समकक्ष से मुलाकात की। विदेश सचिव ने पाकिस्तान के विदेश सचिव से नई दिल्ली में अप्रैल, 2016 में हार्ट ऑफ एशिया में वरिष्ठ अधिकारी बैठक के दौरान मुलाकात की।

दोनों देशों के बीच सैन्य बैठक

भारत और पाकिस्तान के बीच 2014 से 2016 तक मात्र एक ब्रिगेड कमांडर स्तर की बैठक हुई है। यह बैठक 21 सितंबर 2015 को पुंछ-रावलकोट क्रासिंग प्वाईंट पर हुई।

15 मई 2014 और 21 जुलाई 2015 व 22 दिसंबर 2015 को चकन-द-बाग पुंछ सेक्टर, में बटालियन कमांडर स्तरीय बैठक हुई।

13 जनवरी 2016 को चमकोट-लिथवाल क्रासिंग प्वाईंट तंगधार सेक्टर में, 12 अप्रैल 2016 को चकन-द-बाग में, 31 मई 2016 को चकोती-उरी क्रासिंग प्वाईंट (सीयूसीपी) (कमान सेतु) उरी सेक्टर में और 12 अगस्त 2016 को सीयूसीपी में दोनों देशों के बीच बटालियन कमांडर स्तरीय बैठक हुई।

Comments

Most Popular

To Top