International

भारत में चीन-भूटान के राजदूत से मिले पाकिस्तानी उच्चायुक्त

अब्दुल बासित (पाकिस्तान के उच्चायुक्त)

नई दिल्ली। भारत और चीन के बीच चल रहे डोकलाम मुद्दे पर अब पाकिस्तान पूरी तरह सामने आ गया है। मीडिया में चल रही खबरों के मुताबिक पाकिस्तान के उच्चायुक्त अब्दुल बासित ने भारत में चीन के उच्चायुक्त लू झाओ हुई और भूटान के उच्चायुक्त वेटसॉप नमगेल से मुलाकात की है। डोकलाम मुद्दे से पाकिस्तान का कोई लेना-देना नहीं है, लेकिन उसके इस कदम से यह तो साफ है कि वह अब इस विवाद को हवा देना चाहता है। चीन पहले ही इस मुद्दे को अंतर्राष्ट्रीय रंग देने की फिराक में लगा हुआ है। बतौर उच्चायुक्त बासित का कार्यकाल इसी महीने पूरा हो रहा है।





विशेषज्ञों का आकलन है कि पाकिस्तान के उच्चायुक्त का यह कदम चीन को भड़काने की कोशिश हो सकती है। चीनी मीडिया पिछले कई दिनों से इस मुद्दे पर अनाप-शनाप बातें छापकर दबाव बनाने की कोशिश कर रहा है। गुरुवार को ही वहां के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने अपनी टिप्पणी में हिन्दू राष्ट्रवाद के कारण चीन और भारत के बीच युद्ध के खतरे का अंदेशा जताया था। चीन ने पिछले कुछ दिनों में सैन्य अभ्यास के बहाने सीमा के पास काफी मात्रा में गोला-बारूद भी जमा किया है।

क्या है डोकलाम विवाद?

डोकलाम भूटान में 300 वर्ग किलोमीटर का ऐसा इलाका है जो भारत और चीन की सीमा से मिलता है। चीन यहां अपनी चुंबी घाटी से लेकर डोकलाम तक सड़क बनाना चाहता है। भारत और भूटान इसका विरोध कर रहे हैं। भारत के लिए ये इलाका अहम सामरिक महत्व का है।

Comments

Most Popular

To Top