International

पाकिस्तान ने रक्षा खर्च में की सात प्रतिशत की बढ़ोत्तरी

पाकिस्तानी वित्तमंत्री इशाक डार

इस्लामाबाद। पाकिस्तानी की नेशनल असेंबली में वित्त मंत्री इशाक डार ने वर्ष 2017-2018 के लिए अपने वार्षिक रक्षा बजट की घोषणा करते हुए इसमें सीधे सात प्रतिशत की बढ़ोत्तरी की है। इसके अलावा सुरक्षा बलों के लिए दस प्रतिशत की वृद्धि की घोषणा भी की गई है। इस वर्ष के लिए की गई इस बढ़ोत्तरी के बाद पाकिस्तान का रक्षा खर्च 920 अरब रुपए हो जाएगा। पिछले वर्ष ये राशि 860 अरब रुपए थी।





पाकिस्तान के वित्त मंत्री ने संघीय बजट पेश करते हुए कहा कि हमने रक्षा बजट 86 हजार करोड़ रुपये से बढ़ाकर 92 हजार रुपये कर दिया। पाकिस्तान का कहना है कि भारत के साथ उसके संबंध तनावपूर्ण हैं, जिसे देखते हुए इस रक्षा खर्च में बढ़ोत्तरी की गई है। यही नहीं, पाकिस्तान ने अवैध रूप से कब्जा किए हुए जम्मू कश्मीर के हिस्से पर करीब 10 फीसदी की वृद्धि के साथ नए प्रोजेक्ट की भी बात की है। उनके मुताबिक ये प्रोजेक्ट बाल्टिस्तान, फाटा और गिलगित में बनाए जाएंगे।

भारत को केंद्र में रखकर बढ़ाया गया रक्षा खर्च

खराब होती अर्थव्यवस्था और राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय विरोध के मद्देनजर पाकिस्तान ने चीन के आर्थिक सहयोग से बन रहे गलियारे के लिए भी निवेश किया है। रिपोर्टों की मानें, तो संयुक्त राष्ट्र की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर से गुजरने का बुरा असर हो सकता है। इससे पूरे इलाके में तनाव बढ़ सकता है और भारत व पाकिस्तान के रिश्ते में और भी ज्यादा कड़ुवाहट हो सकती है।

गिलगिट-बाल्टिस्तान में भारी विरोध

उधर गिलगिट- बाल्टिस्तान के लोग पिछले कई माह से पाकिस्तानी सरकार पर मानवाधिकार उल्लंघन का आरोप लगा रहे हैं और विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। बता दें कि पीओके और गिलगिट बाल्टिस्तान पर पाकिस्तान अवैध कब्जा जमाए हुए है और इसे जम्मू-कश्मीर का वैध हिस्सा बताता है। यही नहीं हाल ही में गिलगिट बाल्टिस्तान को अपना पांचवां प्रांत करने की घोषणा की थी, जिससे यहाँ के लोगों में काफी आक्रोश है।

Comments

Most Popular

To Top