International

कादिर बलोच ने खोली पाकिस्तान की पोल, ISIS ने करोड़ों रुपये देकर कराया जाधव का अपहरण

नई दिल्ली। पाकिस्तान की जेल में बंद भारतीय नागरिक कुलभूषण जाधव को लेकर एक बड़ा खुलासा हुआ है। बलूचिस्तान के एक सामाजिक कार्यकर्ता मामा कादिर बलोच द्वारा किये गए इस खुलासे में पाकिस्तान के दोहरे चेहरे का भी पर्दाफाश हुआ है। इस खुलासे के मुताबिक पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ने कुलभूषण जाधव को बलूचिस्तान से नहीं बल्कि ईरान से अपहरण करवाया था तथा इस काम के लिए पाकिस्तान द्वारा जैश-उल-अदल के आंतकी मुल्ला उमर को करोड़ों रुपए दिए गए थे।





एक न्यूज चैनल से बात करते हुए मामा कादिर बलोच ने कहा कि पाकिस्तान की इस बात में कोई दम नहीं है कि उसने  कुलभूषण जाधव को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया है। उनका कहना है कि वह जानते हैं कि ईरान के चाबहार से जाधव को किडनैप कराया गया था। उन्होंने कहा कि जाधव के हाथ-पैर बांधकर ईरान-बलूचिस्तान बॉर्डर पर लाया गया और वहां से उसे आईएसआई ने अपने कब्जे में ले लिया। इसके लिए जैश-उल-अदल के आंतकी मुल्ला उमर को करोड़ों रुपए दिए गए थे। जानकारी दे दें कि कादिर बलोच ‘वॉइस ऑफ मिसिंग बलोच’ नामक संस्था के वाइस प्रेसिडेंट हैं। उनके मुताबिक पूरे बलूचिस्तान में उनकी संस्था के लोग काम करते हैं, इसलिए वह जानते हैं।

उन्होंने यह भी खुलासा किया कि यह पाकिस्तान का किसी को किडनैप करने का पुराना पैंतरा है। मेरे बेटे को भी इसी तरह किडनैप किया गया था। कादिर के अनुसार मेरे बेटे को आईएसआई ने 2009 में किडनैप किया था और उसके तीन साल बाद हमें उसकी डेडबॉडी ही मिली थी।

उधर पाकिस्तान का दावा है कि भारतीय नौसेना के कमांडर जाधव भारत की प्रमुख खुफिया एजेंसी रिसर्च एंड एनलिसिस विंग (RAW) के लिए काम कर रहे थे। 3 मार्च 2016 को बलूचिस्तान से गिरफ्तार किया गया। पाकिस्तान की सैन्य अदालत ने जासूसी और आतंकवाद संबंधी आरोपों को लेकर अप्रैल में 47 साल के जाधव को मौत की सजा सुनाई थी जिसके बाद मई में भारत ने इस मामले को अंतरराष्ट्रीय न्यायालय में रखा। भारत की याचिका पर अंतरराष्ट्रीय न्यायालय ने अपना अंतिम फैसला सुनाए जाने तक कुलभूषण जाधव की फांसी की सजा पर रोक लगा दी है।

Comments

Most Popular

To Top