International

पाकिस्तान ने UN में फर्जी फोटो दिखाकर लगाया भारत पर आरोप, लेकिन हो गया बेनकाब

संयुक्त राष्ट्र। पकिस्तान हर बार ही भारत के मामले में मुहं की खाता है। अंतर्राष्ट्रीय मंच पर कई बार उसकी किरकिरी हो चुकी है और इस बार फिर कुछ ऐसा ही हुआ। दरअसल पकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र में फिलस्तीनी युवती को कश्मीरी बताकर भारत को बदनाम करने की कोशिश की लेकिन उस तस्वीर की सच्चाई कुछ और ही निकली।





कश्मीरी नहीं, फिलिस्तीनी लड़की की तस्वीर

हाल ही में संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान की स्थायी प्रतिनिधि मलीहा लोधी ने एक लड़की की तस्वीर दिखाते हुए दावा किया था कि वह लड़की पैलेट गन की शिकार कश्मीरी नागरिक है। उन्होंने इस तस्वीर को भारतीय लोकतंत्र का चेहरा बताया  लेकिन जब तस्वीर की जांच-पड़ताल की गई तो मालूम चला कि फोटो वर्षीय राव्य अबु जोम की है। इस तस्वीर को 2014 में अमेरिकी पत्रकार हैदी लेवेन ने ‘द नेशनल’ के लिए गाजा युद्ध को कवर करते वक्त लिया था। तस्वीर को वर्ष 2014 में गार्जियन ने भी एक संग्रह के रूप में प्रकाशित किया था जिसमें इस फोटो पर कैप्शन भी दिया गया था ‘गाजा शहर के शिफा अस्पताल में 17 वर्षीय राव्या अबु जोमा। राव्या उस वक्त घायल हो गई थी जब उनके परिवार के अपार्टमेंट पर दो हवाई हमले हुए। हमले में उनकी बहन और तीन चचेरे भाई मारे गए थे।’

यानी साफ तौर पर इस तस्वीर का कश्मीर से कहीं तक भी कोई ताल्लुक नहीं था। बता दें कि मलीहा लोधी ट्विटर समेत सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय रहती हैं। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र महासभा में जवाब देने के अधिकार का इस्तेमाल करने के दौरान उन्होंने फर्जी तस्वीर पेश की थी लेकिन सच्चाई सामने आने के बाद से वह इस मुद्दे पर चुप हैं। इस बात से यह भी साफ है कि इस तस्वीर के इस्तेमाल से साफ है कि पाकिस्तान की प्रोपगैंडा मशीनरी भारत को बदनाम करने के लिए किसी भी स्तर तक जा सकती है।

Comments

Most Popular

To Top