International

अब अफगानिस्तान में याद आई विएना संधि, वाह रे पाकिस्तान!

पाकिस्तानी दूतावास

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले में विएना संधि की धज्जियां उड़ाने वाले पाकिस्तान को उस समय इसका ख्याल आया, जब उसके दूतावास के दो स्टॉफ को अफगानिस्तान की खुफिया एजेंसी नेशनल डायरेक्ट्रेट ऑफ सिक्यूरिटी (NDS) ने हिरासत में ले लिया। पाकिस्तान ने अफगानिस्तान पर 1961 की विएना संधि के उल्लंघन का आरोप लगाया है। यह मामला उस समय आया है जब पाकिस्तान जाधव से भारतीय राजनयिक को मुलाकात करने की इजाजत नहीं दे रहा है।





भारत की दमदार दलीलों से कुलभूषण को मिली राहत, अंतिम फैसले तक फांसी पर रोक 

पाकिस्तान के अखबार डॉन के मुताबिक, एनडीएस ने पाकिस्तानी दूतावास के दो स्टाफ को कई घंटे तक हिरासत में रखा और टॉर्चर किया। इस घटना से बौखलाए पाकिस्तान ने अफगानिस्तान पर विएना संधि के उल्लंघन का आरोप लगाया है। पाकिस्तान विदेश विभाग के हवाले से डॉन ने कहा कि ऐसी घटनाओं से रचनात्मक संबंध प्रभावित होते है। हाल ही में पाकिस्तान ने अफगानिस्तान के 50 सैनिकों को मारने का दावा किया था।

पाकिस्तानी अखबार ने बताया कि एनडीएस ने उसके दो स्टाफ को उस समय हिरासत में लिया जब वे खरीदारी करने के लिए दूतावास से बाहर गए थे। एनडीएस के अधिकारी पाकिस्तानी स्टाफ और उनकी गाड़ी को बंदीगृह ले गए। मामले में पाकिस्तानी विदेश विभाग ने कहा कि हम अफगानिस्तान सरकार से अपील करते हैं कि वह राजनयिकों, दूतावास परिसर और दूतावास के कर्मचारी की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जरूरी कदम उठाए। पाकिस्तान ने कहा कि अफगानिस्तान सरकार यह भी सुनिश्चित करे कि भविष्य में ऐसी घटनाएं न हों।

इस बात से पूरी दुनिया वाकिफ है कि पाकिस्तान आतंकवाद की पनाहगाह है। भारत और अमेरिका के बाद अब अफगानिस्तान ने पाकिस्तान पर आतंकवाद को संरक्षण देने का आरोप लगाया है। पाकिस्तान अफगानिस्तान में हमला करने वाले हक्कानी नेटवर्क और तालिबान समेत कई आतंकी संगठनों को सहायता मुहैया कराता है। भारत के अलावा अफगानिस्तान के साथ भी पाकिस्तान के रिश्ते बिगड़ चुके हैं।

Comments

Most Popular

To Top