International

उत्तर कोरिया का परमाणु कार्यक्रम नए चरण में : IAEA

उत्तर कोरिया

विएना। प्योंगयोंग के परमाणु कार्यक्रम को लेकर बढ़ते वैश्विक तनाव के बीच संयुक्त राष्ट्र की निगरानी करने वाली एजेंसी ने कहा है कि पिछले कुछ वर्षों में उत्तर कोरिया की यूरेनियम संवर्द्धन क्षमता दोगुनी हो गई है। यह जानकारी मंगलवार को मीडिया रिपोर्ट से मिली।





अंतर्राष्ट्रीय परमाणु उर्जा एजेंसी (IAEA-आईएईए) के प्रमुख यूकिया अमानो ने अमेरिकी पत्रिका वाल स्ट्रीट जर्नल से कहा कि दुनिया से कटे उत्तर कोरिया की परमाणु क्षमता लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा, ‘स्थिति बहुत खराब है। यह नए चरण में प्रवेश कर गया है। सभी संकेतक यही इशारा करते हैं कि उत्तर कोरिया अपनी घोषणा के अनुरूप आगे बढ़ रहा है।’

प्योंगयोंग की सैन्य आकांक्षाओं को लेकर अंतर्राष्ट्रीय समुदाय के कान इसलिए खड़े हो गए हैं कि गत साल उत्तर कोरिया ने परमाणु परीक्षण किए थे और हाल में प्रक्षेपास्त्र समेत विकसित रॉकेट के भी परीक्षण किए हैं। प्रक्षेपास्त्र परीक्षण के बाद वहां के शासक किम जोंग उन ने कहा था कि यह जापान में अमेरिकी सैन्य अड्डों पर हमले के लिए एक अभ्यास है।

अमानो ने जर्नल से बातचीत के दौरान समस्या के कूटनीतिक हल निकलने की संभावना पर संदेह व्यक्त किया, क्योंकि प्योंगयोंग की यूरेनियम संवर्द्धन और प्लूटेनियम उत्पादन की क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है और उसे चीन का समर्थन प्राप्त है।

विदित हो कि गत जनवरी महीने में दक्षिण कोरिया ने कहा था कि उत्तर कोरिया के पास दस परमाणु बम बनाने लायक प्लूटेनियम है। इसके साथ-साथ बम बनाने के लिए उसे अत्याधिक संवर्द्धित यूरेनियम उत्पादन करने की क्षमता भी हासिल है।

Comments

Most Popular

To Top