International

1914 में लापता हुआ ऑस्ट्रेलिया का सबमरीन मिला, 35 लोगों की हो गई थी ‘जल समाधि’

ऑस्ट्रेलियाई सबमरीन HMAS AE- 1

नई दिल्ली। करीब 100 साल पहले लापता हुए सबमरीन को ढूंढ़कर ऑस्ट्रेलिया ने दुनिया के सबसे बड़े रहस्यों में से एक रहस्य पर से पर्दा उठा दिया है। आधिकारिक सूत्रों गुरुवार को इस खबर की पुष्टि की। मालूम को कि 14 दिसंबर, 1914 को ऑस्ट्रेलियाई सबमरीन HMAS AE- 1  प्रथम विश्व युद्ध के दौरान लापता हो गया था। इसमें 35 लोग सवार थे और तब सबमरीन न्यू ब्रिटेन के आईस्लैंड और न्यू आयरलैंड के बीच उत्तरीपूर्वी पापुआ न्यू गिनिया में था।





मीडिया रिपोर्ट में आई खबरों के मुताबिक सबमरीन को ड्यूक ऑफ यार्क आईलैंड से लगभग तीन सौ मीटर गहरे समंदर में डच के सर्वे शिप फुग्रो इक्वेटर द्वारा खोजा गया है। मामले में रक्षा मंत्रालय के मैरीस पैयन ने पत्रकारों को बताया कि वर्ष 2014 में लापता हुआ सबमरीन HMAS AE- 1 हमारे तत्कालीन राष्ट्र के लिए त्रासदी थी।

ऑस्ट्रेलियाई सबमरीन HMAS AE- 1

ऑस्ट्रेलियाई सबमरीन HMAS AE- 1 (फाइल)

मैरीस पैयन ने कहा कि यह रॉयल ऑस्ट्रेलियन नेवी का पहला सबमरीन था जो लापता हुआ था और प्रथम विश्व युद्ध के दौरान विश्व को सबमरीन के तौर पर नुकसान HMAS AE- 1  को ही हुआ था। बता दें कि फुग्रो इक्वेटर एक ऐसा शिप है जो समंदर में लापता शिप, सबमरीन या अन्य लापता चीजों को खोजना का काम करता है। वर्ष 2014 में लापता हुए मलेशियाई विमान को खोजने में इस शिप ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

 

Comments

Most Popular

To Top