International

मैनचेस्टर बम धमाका : मदद के लिए आगे आए भारतीय

मैनचेस्टर। पॉप सिंगर एरियाना ग्रांडे के म्यूजिक कॉन्सर्ट में 22 लोगों की जान लेने वाला बम धमाका इतना शक्तिशाली था कि लोग कई फीट दूर जाकर गिरे, कोई खून से लथपथ बाहर भाग रहा था, तो किसी की मौके पर ही मौत हो गई। लोगों के चेहरों पर दहशत और खौफ के अलावा कुछ था तो खुद को सुरक्षित जगह पहुंचाना। इस लाइव कॉन्सर्ट में टीनएजर्स सबसे अधिक संख्या में थे।





पॉप सिंगर एरियाना ग्रांडे के म्यूजिक कॉन्सर्ट के दौरान धमाके में 22 की मौत

मैनचेस्टर में रहने वाले भारतीय इस घटना के बाद पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए हैं। पीड़ितों को गुरुद्वारों में भी शरण दी जा रही है। हरजिंदर एस कुकरेजा ने चार सिख गुरुद्वारों का पता बताते हुए एक ट्वीट किया और बताया कि यहां पीड़ितों के लिए खाने और रुकने की व्यवस्था की जा रही है। ये सभी के लिए खुले हैं।

मैनचेस्टर बम धमाका

एक भारतीय ड्राइवर जो पीड़ितों को फ्री राइड दे रहे हैं।

ग्रेटर मैनचेस्टर के कई लोकल ड्राइवर्स ने पीड़ितों की मदद के लिए फ्री टैक्सी राइड भी शुरू कर दी है यानी यदि कोई हादसे में पीड़ित अपने परिजन को खोजने या अस्पताल पहुंचने के लिए इस टैक्सी में बैठता है तो उसे कोई किराया नहीं देना पड़ेगा। मैनचेस्टर में रहने वाले एक भारतीय ड्राइवर भी फ्री टैक्सी सर्विस दे रहे हैं।

यहां तक कि मैनचेस्टर के आसपास के इलाकों में लोगों ने फेसबुक और ट्विटर पर भी लोगों को मदद देने की कोशिश की है। एक यंगस्टर ने ट्वीट किया कि यदि इस परेशानी की घड़ी में किसी को मदद की जरूरत है तो वह हमारे घर रह सकता है। हम मैनचेस्टर से कुछ ही दूर पर हैं।

मैनचेस्टर बम धमाका

हरजिंदर एस कुकरेजा ने चार गुरूद्वारों का पता अपने ट्विटर पर पोस्ट किया जो पीड़ितों की मदद के लिए खोले गए हैं।

लोगों ने जैसा देखा, जानिए क्या और कैसे हुआ 

एंडी बताते हैं कि मैं कॉन्सर्ट के बाहर अपनी बेटी का इंतजार कर रहा था। अचानक ऐसा लगा कि पूरी धरती हिल गई है एक धमाका सुनाई दिया। ये बिल्कुल एक वार-फिल्म की तरह था। जब मैंने खुद को कुछ संभाला और चारों ओर देखा तो मैं सन्न रह गया। लोग इधर-उधर पड़े हुए थे पता नहीं उनमें जान थी या नहीं, लग रहा था कि सब मर गए हैं।

गैरी वॉकर

मैं अपनी पत्नी के साथ घटनास्थल से कुछ ही मीटर की दूरी पर था और अपनी बेटी का ही इंतजार कर रहे थे। हमें मालूम चला कि ये आखिरी गाना है और इसके बाद कॉन्सर्ट खत्म हो जाएगा। तभी हवा में तेज रोशनी और धुआं उठा। मेरे पैरों ने काम करना बंद कर दिया था। कोई नुकीली चीज मेरे पैर में घुस गई। पत्नी की तरफ मुड़ा तो उसने कहा जमीन पर बैठ जाते हैं। मेरी पत्नी को भी पेट और पैर में चोट लगी थी, लेकिन हैरान हूं कि हम बच गए।

मैनचेस्टर धमाका

मैनचेस्टर के साउथ सील्ड के इन दो बच्चों की तस्वीर सोशल मीडिया पर डाली गई दौनों का अभी तक कोई पता नहीं चल पाया है।

ऐमा जॉनसन

हम अपनी 15 और 17 साल की दो बेटियों को लेने आए थे। ये बम धमाका था, हम सीढ़ियों के पास बैठे थे तभी शीशे जोर से चटके और पूरी बिल्डिंग थर्रा उठी। हम तुरंत अपने बच्चों को खोजने दौड़े और सौभाग्य से सुरक्षित है।

एनी मरी

एनी अपनी 13 साल की बेटी के साथ कॉन्सर्ट में थीं। स्टेडियम के आसपास धुओं भर गया हम भी अपनी जान बचाने भागे। मैंने कई लोगों की मदद की कोशिश भी की।

जेसिका

मैं शॉक्ड थी। एक जोरदार धमाका हुआ और सभी अरीना से रोते हुए भागने लगे। पहले लगा कि ये किसी बड़े गुब्बारे फूटने की आवाज है लेकिन बाद में मालूम हुआ कि ये ब्लास्ट था।

ब्लड बैंक के बाहर भीड़ 

इस हादसे के बाद लोग सुबह से ही जहां अपने दोस्तों परिजनों को खोजने में लगे हैं। वहीं अस्पतालों में भी घायलों को खून देने के लिए भी ब्लड बैंक के बाहर बड़ी संख्या में लोग खड़े नजर आए।

हमला पीड़ितों ने दहशत की रात का जिक्र कुछ इस तरह किया, बम धमाके के बाद जहां चारों तरफ अफरा तफरी मची है वहीं भारतीय पीड़ितों की मदद कर रहे हैं। यहां काफी संख्या में भारतीय गुरूद्वारे हैं जहां पीड़ितों को आवास और भोजन की व्यवस्था दी जा रही है।

 

Comments

Most Popular

To Top