International

कुलभूषण को फांसी दी तो नतीजे भुगतने को तैयार रहे पाकिस्तान : सुषमा

विदेशमंत्री सुषमा स्वराज

नई दिल्ली। पाकिस्तान में भारतीय नागरिक व पूर्व नेवी आफिसर कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाए जाने के मामले पर सरकार ने संसद में स्पष्ट तौर पर कहा है कि जाधव भारत का बेटा है और उसको बचाने के लिए भारत सरकार हरसंभव कदम उठाएगी। विदेशमंत्री सुषमा स्वराज ने संसद के दोनों सदनों में इस मामले पर बयान देते हुए कहा कि मैं पाकिस्तान सरकार को चेतावनी देती हूं कि अगर वे कुलभूषण को फांसी देते हैं तो भारत सरकार के साथ रिश्ते बिगड़ेंगे। वे इसके नतीजे भुगतने को तैयार रहें।





जासूसी के आरोप में भारत के कुलभूषण को पाकिस्तान ने सुनाई मौत की सजा

जाधव को बचाने के लिए भारत सरकार आउट ऑफ द वे जाकर भी मदद करेगी

विदेश मंत्री ने लोकसभा में दिए बयान में कहा कि जाधव को बचाने के लिए भारत सरकार आउट ऑफ द वे जाकर भी मदद करेगी। इससे पूर्व राज्यसभा में इसी मामले पर सरकार का पक्ष रखते हुए सुषमा ने कहा कि, कुलभूषण के खिलाफ जासूसी करने का कोई सबूत पाकिस्तान के पास नहीं है। यहां तक कि वरिष्ठ पाकिस्तानी नेता ने खुद कुलभूषण जाधव के केस में किए गए दावों की सत्यता को लेकर आशंका जताई है। विदेश मंत्री ने कहा कि भारतीय राजनयिकों ने पाकिस्तान में कुलभूषण जाधव से मिलने का कई बार प्रयास किया किंतु उनको मिलने नहीं दिया गया। विदेशमंत्री ने बताया कि वह जाधव के परिवार के संपर्क में हैं। विदेशमंत्री ने राज्यसभा में कहा कि, जाधव भारत का बेटा है और इस बेटे को बचाने के लिए अच्छा वकील खड़ा करना तो बहुत छोटी बात है, हम राष्ट्रपति तक भी इस मामले में बात करेंगे।

कुलभूषण के पास वैध पासपोर्ट तो वह जासूस कैसे : गृहमंत्री राजनाथ सिंह

विदेशमंत्री से पहले गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने भी इस मामले पर कहा कि भारत सरकार कुलभूषण जाधव को पाक में सुनाई गई फांसी की सजा की कड़े शब्दों में निंदा करती है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान ने कुलभूषण जाधव के पास से वैध पासपोर्ट होने की बात मानी है। अगर वैध पासपोर्ट है तो वह जासूस कैसे हो सकता है। उन्होंने बताया कि मार्च 2016 में कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी सुरक्षा एजेंसियों ने गिरफ्तार किया। भारत सरकार इस मामले में हरसंभव कदम उठाएगी।

कुलभूषण जाधव को सजा-ए-मौत : …सरबजीत कांड को दोहराना चाहता है पाकिस्तान?

भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों ने 13 बार जाधव से मिलने की कोशिश की लेकिन पाकिस्तान ने मिलने नहीं दिया

इससे पूर्व, लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि सरकार बताए कि जाधव को बचाने के लिए उन्होंने क्या कदम उठाए। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा कि, प्रधानमंत्री अपने समकक्ष नवाज शरीफ के घर शादी में बधाई देने जा सकते हैं तो उन्होंने जाधव को बचाने के लिए पाकिस्तान से बात क्यों नहीं की ।

कुलभूषण जाधव मामले में किसने दिया भारत को झटका ?

विपक्ष के इन आरोपों के जवाब में सरकार की ओर से बताया गया कि इस मामले में सख्त कदम उठाए जा रहे हैं। पाकिस्तान स्थित भारतीय उच्चायोग के अधिकारियों ने 13 बार जाधव से मिलने की कोशिश की लेकिन पाकिस्तान अधिकारियों ने मिलने नहीं दिया। इस मामले में सरकार हरसंभव कदम उठाएगी।

Comments

Most Popular

To Top