International

मिसाइल परीक्षण के बाद बोले किम, और बनाएंगे मिसाइलें

किम जोंग-उत्तर कोरिया

प्योंगयांग। उत्तर कोरिया के शासक किम-जोंग उन ने अपनी मौजूदगी में फिर एक बार एक ठोस र्इंधन वाली बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है। ये मिसाइल 560 किलोमीटर तक वार करने में सक्षम है। एक सप्ताह पूर्व ही उत्तर कोरिया ने मिसाइल का परीक्षण किया था जिसे लेकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की गई थी। वहीं किम जोंग पर इसका कोई असर नहीं हुआ और इस मिसाइल के परीक्षण के बाद उन्होंने बड़े पैमाने पर इन मिसाइलों को बनाने के आदेश दिए हैं। उधर,अमेरिका ने कहा कि इस मिसाइल की क्षमता पिछले तीन परीक्षणों के मुक़ाबले कम थी।





मिसाइल परीक्षण पर दक्षिणा कोरिया ने बुलाई बैठक

स्थानीय न्यूज एजेंसी केसीएनए के मुताबिक इस मिसाइल के ताजा परीक्षण के बाद दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून-जे-इन ने राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद की बैठक बुलाई है। इस बैठक में उत्तर कोरिया के मिसाइल परीक्षणों पर चर्चा की जाएगी। दक्षिण कोरिया के ज्वाइंट चीफ आॅफ स्टॉफ का कहना हे कि प्योंगयांग प्रांत के पुकचांग से दागी गई मिसाइल किस प्रकार की है, इसके बारे में जानकारी जुटाई जा रही हैं, लेकिन ये मिसाइल 560 किमी की दूरी तय कर सकती है। इस मिसाइल को पुकगुसॉन्ग-2 नाम दिया गया है। इन मिसाइलों का निर्माण और परीक्षण कर उत्तर कोरिया अपने सैन्य विभाग को अत्यंत सशक्त और आधुनिक हथियारों से लैस करना चाहता है।

 किम जोंग-उत्तर कोरिया

उत्तर कोरिया के शासक किम जोंग ने अपनी मौजूदगी में बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया

प्रतिबंधों को नकार पिछले सप्ताह भी किया था मिसाइल परीक्षण

आपको बता दें कि उत्तर कोरिया ने अमेरिका द्वारा मिसाइल परीक्षण पर लगाए प्रतिबंध के बावजूद मध्यम दूरी की बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया है। बीते 14 मई को उत्तर कोरिया ने हवासोंग -12 का परीक्षण किया था जिसकी मारक क्षमता 700 किलोमीटर है। उत्तर कोरिया अब तक कुल पांच परमाणु परीक्षण कर चुका है और अपनी मिसाइलों को परमाणु हथियारों से लैस करने की कोशिश कर रहा है।

Comments

Most Popular

To Top