International

छह मुस्लिम देशों के लिए ट्रम्प का नया वीजा आदेश

डोनाल्ड-ट्रम्प

वाशिंगटन। डोनाल्ड ट्रम्प प्रशासन ने सोमवार को नया वीजा आदेश जारी किया। इस आदेश के तहत छह मुस्लिम देशों से अमेरिका आने वाले लोगों को नए वीजा नहीं दिए जाएंगे, लेकिन जिन लोगों के पास पहले से वीजा या ग्रीन कार्ड है उन पर कोई प्रतिबंध लागू नहीं होगा। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से मिली।





नया आदेश 16 मार्च से लागू होगा

समाचार एजेंसी एएफपी के अनुसार, जिन देशों को प्रतिबंधित सूची में शामिल किया गया है उनमें सूडान, सीरिया, सोमालिया, ईरान और यमन शामिल हैं। इस सूची में पहले इराक शामिल था, लेकिन अब वहां से आने वाले लोगों पर प्रतिबंध नहीं है। उल्लेखनीय है कि नया आदेश 16 मार्च से लागू होगा, क्योंकि पिछली बार वक्त नहीं दिए जाने से हवाई अड्डों पर अफरा-तफरी मच गई थी। इतना ही नहीं जिन लोगों के पास वीजा या ग्रीन कार्ड थे उन्हें भी रोका जा रहा था जिसके बाद दुनिया भर में काफी हंगामा मचा था।

आदेश 90 दिनों तक लागू रहेगा

यह आदेश 90 दिनों तक लागू रहेगा और इस दौरान सूची में शामिल देशों की ओर से उपलब्ध कराई गई जानकारियों की जांच की जाएगी। इसके बाद संबद्ध देशों को जानकारी जुटाने की प्रक्रिया में बेहतरी लाने के लिए और 50 दिन दिए जाएंगे। विदित हो कि राष्ट्रपति ट्रम्प ने जनवरी महीने में वीजा प्रतिबंध आदेश जारी किया था जिस पर अदालत ने रोक लगा दी थी। यही वजह है कि सुधार के साथ नया आदेश जारी किया गया है और उम्मीद की जा रही है कि लोग अदालत का दरवाजा नहीं खटखटाएंगे।

अमेरिका के गृह मंत्री का कहना है कि यह आदेश अमेरिका को सुरक्षित बनाएगा और आप्रवासन तंत्र को लेकर चिंताओं को दूर करेगा। इस आदेश के तहत अमेरिका के शरणार्थी कार्यक्रम पर 120 दिनों के लिए रोक लग जाएगी, लेकिन जिन देशों के शरणार्थियों को अमेरिका आने की मंजूरी मिल चुकी है उन्हें नहीं रोका जाएगा। साथ ही सीरिया से आने वाले शरणार्थियों पर से अनिश्चितकालीन प्रतिबंध हटा दिया गया है। सीरियाई शरणार्थियों पर अब वही नियम लागू होंगे जो अन्य देशों के शरणार्थियों पर लागू होंगे।

इस आदेश में पुराने आदेश के उस हिस्से को भी हटा दिया गया है जिसमें कहा गया था कि मुस्लिम बहुल देशों के ईसाइयों को प्राथमिकता दी जाएगी। वैसे नए आदेश में कई बदलाव किए गए हैं, लेकिन इसका मकसद आतंक प्रभावित इलाकों के लोगों को अमेरिका से बाहर रखना है।

Comments

Most Popular

To Top