International

IS आत्मघातियों ने धमाके कर पुलिस को बनाया निशाना

आत्मघाती विस्फोट

जकार्ता। इंडोनेशिया की राजधानी जकार्ता के कम्पुंग मेलयु क्षेत्र में एक व्यस्त बस टर्मिनल पर बुधवार देर रात हुए दो आत्मघाती विस्फोट में कम से कम तीन पुलिसकर्मियों की मौत हो गई और 6 पुलिसकर्मी और 6 अन्य लोग घायल हो गए हैं। ये धमाके पांच मिनट के अंतराल पर सेट किए गए थे। इस बीच इंडोनेशिया की आतंकवाद रोधी इकाई ने आज एक संदिग्ध आत्मघाती हमलावर के घर पर छापेमारी की। यह जानकारी पुलिस ने दी है। राष्ट्रीय पुलिस प्रवक्ता अवी सेत्योनो ने इस हमले में इस्लामिक स्टेट का हाथ बताया है लेकिन साथ ही कहा कि अभी हम देख रहे हैं कि इसमें किसी अंतर्राष्ट्रीय नेटवर्क का हाथ है या नहीं।





आत्मघाती विस्फोट

जकार्ता के कम्पुंग मेलयु क्षेत्र में एक व्यस्त बस टर्मिनल पर हुए दो आत्मघाती विस्फोट

आत्मघाती विस्फोट

जकार्ता के कम्पुंग मेलयु क्षेत्र में व्यस्त बस टर्मिनल पर आत्मघाती विस्फोट के बाद का सीन

आत्मघाती विस्फोट

जकार्ता के कम्पुंग मेलयु क्षेत्र में व्यस्त बस टर्मिनल पर अलर्ट पुलिस

राष्ट्रपति जोको विडोडो ने एक वक्तव्य में कहा कि, “हमें शांत रहना रहना चाहिए (और) शांति बनाए रखनी चाहिए क्योंकि हम मुस्लिम उपवास के लिए रमजान के महीने में प्रवेश करने की तैयारी कर रहे हैं।”

जकार्ता में बस स्टेशन के पास वाली गली हुए विस्फोट से लोगों में दहशत फैल गई है। हालांकि अभी तक स्पष्ट नहीं हुआ है कि हमले के पीछे किसका हाथ है। लेकिन देश को हाल ही में इस्लामिक स्टेट (आईएसआईएस) आतंकवादी संगठन के आतंकवादियों द्वारा किए गए हमलों के मद्देनजर हाई अलर्ट पर रखा गया है।

पूर्वी जकार्ता के पुलिस प्रमुख एंड्री विबोवो ने मेट्रो टीवी से कहा, “रात नौ बजे (भारतीय समयानुसार शाम 7:30 बजे) एक के बाद एक दो विस्फोट हुए। नुकसान को देखते हुए कहा जा सकता है कि विस्फोट बहुत बड़ा था।

गौरतलब है कि इंडोनेशिया में मुस्लिम आबादी सबसे ज्यादा है। जनवरी 2016 के बाद यह सबसे घातक हमला बताया जा रहा है। पिछले साल जनवरी में जकार्ता में संयुक्त राष्ट्र ऑफिस के पास एक कैफे समेत छह जगहों पर हुए धमाकों और गोलीबारी में तीन पुलिसकर्मियों समेत छह लोगों की मौत हो गई थी और चार हमलावर भी मारे गए थे। धमाकों की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली थी।

Comments

Most Popular

To Top