International

UN में कश्मीर मुद्दे पर OIC को भारत का करारा जवाब

यूएन में भारत

संयुक्त राष्ट्र। यूएन में भारत ने पाकिस्तान की बोलती बंद कर दी। यहां कश्मीर को लेकर भारत ने इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) पर निशाना साधा है। ओआईसी तरफ से पाकिस्तान द्वारा दिए गए बयान पर भारत ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न और अविभाज्य हिस्सा है। भारत ने दो टूक कहा कि ओआईसी को भारत के आंतरिक मामलों में हस्तक्षेप का कोई हक नहीं है। इतना ही नहीं भारत ने संगठन को भविष्य में इस तरह के संदर्भ बनाने से दूर रहने की सलाह दी। बता दें कि संयुक्त राष्ट्र में पाकिस्तान ने ओआईसी का जिक्र करते हुए संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर पर बयान दिया था।





‘जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा’

भारत के संयुक्त राष्ट्र मिशन के प्रथम सचिव सुमित सेठ ने जेनेवा में भारत पर पाकिस्तान की तरफ से लगाए गए आरोपों पर कहा कि पाकिस्तान द्वारा क्षेत्रीय अस्थिरता के लिए ‘आतंकवाद को राष्ट्रीय नीति’ बनाने के बावजूद जम्मू-कश्मीर भारत का अभिन्न हिस्सा है और हमेशा रहेगा।

उन्होंने कहा कि जम्मू और कश्मीर में मौजूदा हालात पाकिस्तान की ओर से सीमा पार से आतंकवाद बढ़ाने की वजह से है। इस विकट परिस्थिति में भी भारतीय सुरक्षा बलों का बलिदान उनके अपार संयम को दिखाता है।

जेनेवा में पाकिस्तान के स्थायी प्रतिनिधि फारूक आमिल ने पाकिस्तान की तरफ से यह मुद्दा उठाया। संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार कमिश्नर जैद राड अल हुसैन ने सोमवार को भारत और पाकिस्तान दोनों की यह कहकर आलोचना की थी कि दोनों देश कश्मीर में तथ्य तलाशने वाली टीम को जाने की इजाजत नहीं देते हैं। आमिल ने मनावाधिकार कमिश्नर के आरोपों की आलोचना करते हुए कहा कि अत्याचार और मानवाधिकार उल्लंघन भारत के कश्मीर में हुए हैं हमारे कश्मीर में नहीं, इसलिए कमिश्नर अल हुसैन का बयान तथ्यों पर आधारित नहीं है।

कश्मीर के लोगों के मानवाधिकार का सम्मान करता है भारत

सुमित सेठ ने कहा, ‘भारत कश्मीर के लोगों के मानवाधिकार का सम्मान करता है और यहां कानून को स्थापित करने के लिए स्वतंत्र न्यायिक प्रक्रिया के रूप में एक मजबूत संस्थागत ढांचा बना हुआ है।’ ब्लूचिस्तान और पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर में मनावाधिकार के हनन की जानकारी देते हुए भारत की तरफ से कहा गया कि जिन आतंकियों को संयुक्त राष्ट्र ने नामित किया है, पाकिस्तान ऐसे आतंकियों को शरण दे रहा है।

Comments

Most Popular

To Top