International

संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर के मुद्दे पर भारत की पाकिस्तान को दो टूक

सैयद अकबरुद्दीन

संयुक्त राष्ट्र। पाकिस्तान में शासन बदल चुका है लेकिन कश्मीर के मसले पर राग वही पुराना है। बार-बार कश्मीर राग अलापने वाले पाकिस्तान को भारत ने संयुक्त राष्ट्र में खरी-खरी सुनाई है। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि पाकिस्तान को छद्म राजनीति से ऊपर उठकर सकारात्मक सोच के साथ आगे बढ़ना चाहिए। उन्होंने पाकिस्तान की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि दक्षिण एशिया क्षेत्र में अमन शांति की बहाली के लिए हम नई सरकार से सकारात्मक पहल की उम्मीद करते हैं। आगे उन्होंने कहा कि पाकिस्तान का कोई ऐसा प्रतिनिधि मंडल जिसका वैधानिक अस्तित्व नहीं है अगर वह कश्मीर के संबंध में कहता है तो उसका कोई अर्थ ही नहीं है।





उल्लेखनीय है कि पिछले कुछ वर्षों से भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध तनावपर्ण चल रहे हैं। भारतीय प्रतिनिधि ने पड़ोसी देश से क्षेत्र को आतंकवाद और हिंसा से मुक्त करने की दिशा में काम करने की भी उम्मीद जताई।

मालूम हो कि पाकिस्तान समर्थित आतंकियों के कारण भारत में आए दिन आतंकी वारदात और घुसपैठ की घटनाएं होती रहती हैं। ऐसे में भारत ने स्पष्ट रूप से कहा है कि आतंक और बातचीत दोनों साथ-साथ नहीं चल सकते हैं। उधर, पाकिस्तान की एक मंत्री ने कहा है कि इमरान खान की सरकार कश्मीर मसले के हल के लिए प्रस्ताव तैयार कर रही है। मानवाधिकार मंत्री शिरीन मजारी ने एक टीवी कार्यक्रम में यह बात कही।

यूएन में भारत ने ऐसे वक्त पाकिस्तान को नसीहत दी है जब इस्लामाबाद में सिंधु जल संधि के विभिन्न पहलुओं पर द्विपक्षीय बातचीत चल रही है। पाकिस्तान के नए निजाम बनने के बाद भारत-पाकिस्तान के बीच यह पहली वार्ता है।

Comments

Most Popular

To Top