International

कुलभूषण जाधव मामले में किसने दिया भारत को झटका ?

कुलभूषण-जाधव

नई दिल्ली। भारतीय नौसेना के पूर्व अधिकारी कुलभूषण जाधव को पाकिस्तानी अदालत की ओर से मौत की सजा सुनाए जाने के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच जारी तनाव के बीच संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि वह इस स्थिति में नहीं है कि जाधव के मामले पर टिप्पणी कर सके। संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि दोनों देशों को इस मामले में आपस में बात करने की जरूरत है। भारत सरकार ने कहा है कि जाधव भारतीय जासूस नहीं हैं और सरकार उनका मामला अंतरराष्ट्रीय अदालत में उठाने के विकल्पों पर विचार कर रही है।





यूएन के महासचिव एंटोनियो गायटेरस के प्रवक्ता स्टीफेन दुजारिक ने कहा, ‘हम पूरी प्रक्रिया का मूल्यांकन करने की स्थिति में नहीं हैं ताकि इस मामले पर फैसला कर सकें।’ दुजारिक दैनिक प्रेस ब्रीफिंग के दौरान पाकिस्तानी सैन्य कोर्ट से मौत की सजा सुनाए जाने से जुड़े सवाल का जवाब दे रहे थे। दुजारिक ने कहा, ‘भारत और पाकिस्तान के संबंधों के बारे में हमारा मानना है कि दोनों देशों को परस्पर सहयोग और बातचीत से हल निकालना चाहिए।’

26/11 की सुनवाई पूरी नहीं और कुलभूषण पर जल्दबाजी !

भारत ने जाधव की फांसी की खबर पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि अगर ऐसा होता है तो भारत सरकार और यहां की जनता इसे सोची-समझी हत्या मानेगी। भारतीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह और विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने संसद में कहा कि भारत सरकार जाधव को बचाने के लिए हरसंभव प्रयास करेगी। भारत सरकार जाधव के लिए पाकिस्तान में वकील की व्यवस्था करने के विकल्प तलाश रही है।

Comments

Most Popular

To Top