Army

बाज और बकरी से लेकर नेवले तक, ये हैं विदेशी सेनाओं के शुभंकर

पुराने समय से ही आर्मी की अलग-अलग यूनिट्स में विभिन्न जानवरों को शुभंकर के रूप में रखा जाता है। शुभंकर या यूं कहें कि भाग्यशाली। ये पशु या जानवर सैन्य इकाई का प्रतिनिधित्व करते रहे हैं और प्राचीन समय से ही विभिन्न सैन्य इकाइयों की पहचान बने रहे हैं। पहले और दूसरे विश्वयुद्ध कि कई तस्वीरें इस बात का प्रमाण हैं कि कुत्ते, बन्दर, भालू, कछुए व खरगोश आदि जानवरों को सैन्य टुकडियां अपने साथ रखती थीं। कुछ सेनाओं में आज भी  इन्हें यूनिट के लिए भाग्यशाली माना जाता  है। कई देशों की सेना में आज भी एनिमल्स को शुभंकर के रूप में रखा जाता है आइये जानते हैं इनसे जुड़ी कुछ ख़ास बातें :-





लिटिल पोनी

 

स्कॉटलैंड की रॉयल रेजिमेंट में एक छोटे आकार का (pony) टट्टू है। नाम है र्पोरल क्रूचान IV। उसे हर सैन्य आयोजन में रेजीमेंट के शुभंकर के तौर पर प्रदर्शित किया जाता है।ख़ास बात यह है कि उसके कई प्रमोशन भी हो चुके हैं। 

Comments

Most Popular

To Top