International

पाकिस्तानी विदेशमंत्री ने कहा- आतंकियों पर नकेल जरूरी

इस्लामाबाद। दबाव में ही सही अब पाकिस्तान भी मानने लगा है कि लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद जैसे आतंकी संगठनों पर अंकुश नहीं लगाया तो अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उसे शर्मिंदगी झेलनी पड़ेगी।





पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल पर बातचीत में कहा कि दुनिया को यह भरोसा दिलाने की जरूरत है कि पाकिस्तान का आतंकवाद से कोई वास्ता नहीं है। ब्रिक्स घोषणापत्र पर डिबेट में पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा कि लश्कर और जैश जैसे संगठनों की हरकतों पर बंदिशे लगानी होंगी ताकि अंतर्राष्ट्रीय बिरादरी को दिखा सकें कि हमारे अंदर अपने घर को ठीक करने का माद्दा है।

पाकिस्तान के विदेश मंत्री की यह राय ब्रिक्स घोषणापत्र के दो दिन बाद आई है। चीन के श्योमन में ब्रिक्स के सदस्य देशों ने पाकिस्तान से संचालित हो रहे आतंकी संगठनों का नाम लिया था और उन्हें क्षेत्रीय सुरक्षा के लिए खतरा बताया था।

पिछले कुछ समय से आतंकवाद के मुद्दे पर पाकिस्तान को लगातार आलोचना झेलनी पड़ रही है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप कई बार इस संबंध में पाकिस्तान को चेता चुके हैं। ट्रंप ने हक्कानी नेटवर्क जैसे आतंकवादी गुटों को पनाह देने के लिए पाकिस्तान की आलोचना की थी।

हालांकि पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने आतंकवाद पर ब्रिक्स के स्टैंड को चीन की आधिकारिक राय मानने से इंकार कर दिया। उनके मुताबिक रूस, भारत, ब्राजील और दक्षिण अफ्रीका भी इसके सदस्य हैं।

 

Comments

Most Popular

To Top