International

डोनाल्ड ट्रम्प को फिर लगा अदालती झटका

डोनाल्ड ट्रम्प

होनोलुलु। हवाई की संघीय अदालत ने छह मुस्लिम बहुल देशों से आने वाले लोगों और शरणार्थियों पर अस्थाई प्रतिबंध लगाने संबंधी अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के संशोधित कार्यकारी आदेश पर रोक लगा दी है। नया आदेश 16 मार्च (आज) से लागू होने वाला था। यह जानकारी मीडिया रिपोर्ट से गुरुवार को मिली। दूसरी तरफ ट्रम्प ने इसकी कड़ी आलोचना करते हुए इसे ‘न्यायिक दखलंदाजी’ करार दिया है।





अमेरिकी जिला न्यायाधीश डेरिक वाटसन ने आदेश जारी करते हुए कहा कि हवाई राज्य ने मजबूती से यह साबित करने की कोशिश की है कि नए प्रतिबंध आदेश से देश को अपूरणीय क्षति होगी।

अदालती आदेश का तात्पर्य है कि देश भर में लीबिया, ईरान, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन के लोगों के प्रवेश पर 90 दिनों तक और शरणार्थियों के प्रवेश पर 120 दिनों तक के अस्थाई प्रतिबंध पर रोक लग जाएगी।

अदालती फैसले पर प्रतिक्रिया जाहिर करते हुए राष्ट्रपति ट्रम्प ने कहा, “अदालती फैसला दोषपूर्ण और अभूतपूर्व न्यायिक अतिरेक है। अगर जरूरत पड़ी तो वह सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाएंगे।” उन्होंने आगे कहा, “अमेरिकी संविधान देश हित में राष्ट्रपति को आप्रवासन पर रोक लगाने का अधिकार देता है। विदित हो कि इससे पहले राष्ट्रपति के प्रतिबंध आदेश पर सिएटल की एक अदालत ने रोक लगा दी थी। यही वजह है कि ताजा आदालती रोक को अमेरिका में ट्रम्प प्रशासन की करारी हार के रूप में देखा जा रहा है।

Comments

Most Popular

To Top